200 करोड़ रुपए की 105 बीघा जमीन कराई अतिक्रमण मुक्त

जेडीए ने शुक्रवार को इकोलॉजिकल जोन (Ecological zone) में गोविन्दपुरा—रोपाड़ा से रिंग रोड से लगती हुई करीब 105 बीघा जेडीए स्वामित्व की बेशकीमती 200 जमीन को अतिक्रमण मुक्त (Encroachment) कराया। जेडीए इस जमीन की कीमत करीब 200 करोड़ रूपए बता रहा है। जेडीए प्रवर्तन दस्ते ने स्थानीय पुलिस जाप्ते के साथ दिनभर कार्रवाई कर अपनी जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया।

By: Girraj Sharma

Updated: 23 Oct 2020, 07:02 PM IST

200 करोड़ रुपए की 105 बीघा जमीन कराई अतिक्रमण मुक्त
— जेडीए की इकोलॉजिकल जोन में कार्रवाई
— रिंग रोड के लगती खोरी रोपाड़ा में जेडीए की जमीन पर की जा रही खेती


जयपुर। जेडीए ने शुक्रवार को इकोलॉजिकल जोन (Ecological zone) में गोविन्दपुरा—रोपाड़ा से रिंग रोड से लगती हुई करीब 105 बीघा जेडीए स्वामित्व की बेशकीमती 200 जमीन को अतिक्रमण मुक्त (Encroachment) कराया। जेडीए इस जमीन की कीमत करीब 200 करोड़ रूपए बता रहा है। जेडीए प्रवर्तन दस्ते ने स्थानीय पुलिस जाप्ते के साथ दिनभर कार्रवाई कर अपनी जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया।

मुख्य नियंत्रक प्रवर्तन रघुवीर सैनी ने बताया कि जोन-10 में गोविन्दपुरा उर्फ रोपाडा से रिंग रोड़ तक लगती हुई करीब 105 बीघा जेडीए स्वामित्व की सरकारी भूमि पर पिछले करीब 30 वर्षों से मिट्टी की डोल, पत्थर-सीमेन्ट के पिल्लर और तारबन्दी कर खेती की जा रही थी। उपायुक्त जोन-10 व राजस्व, प्रवर्तन दस्ते ने जेसीबी मशीनों व मजदूरों की सहायता से सरकारी भूमि को अतिमक्रण से मुक्त करवाया गया। जिसकी अनुमानित कीमत करीब 200 करोड़ रूपए है। इससे लगती हुई शेष सरकारी भूमि को चिन्हित कर अवैध कब्जे-अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned