खजाना भरने के लिए जेडीए ने चिह्नित किए राजधानी में 1000 से अधिक भूखंड

जेडीए ने अपना खजाना भरने के लिए शहर में करीब 1000 से अधिक नए भूखंड चिह्नित (New plots marked) किए है। जेडीए जोन उपायुक्तों ने अपने—अपने क्षेत्रों में ये भूखंड चिह्नित किए है। इनमें कई भूखंड करोडों रुपए के बताए जा रहे है। इन भूखंडों में कॉमर्शियल के साथ आवासीय भूखंड भी शामिल है। साथ ही ये भूखंड प्राइम लोकेशन पर है या वहां मूलभूत सुविधाएं पहले से ही विकसित है।

By: Girraj Sharma

Updated: 23 Jul 2020, 07:12 PM IST

खजाना भरने के लिए जेडीए ने चिह्नित किए राजधानी में 1000 से अधिक भूखंड
— जोन उपायुक्तों ने अपने—अपने जोनों में चिह्तिन किए भूखंड
— जेडीए ने भूखंड नीलाम करने की कवायद की शुरू
जयपुर। जेडीए ने अपना खजाना भरने के लिए शहर में करीब 1000 से अधिक नए भूखंड चिह्नित (New plots marked) किए है। जेडीए जोन उपायुक्तों ने अपने—अपने क्षेत्रों में ये भूखंड चिह्नित किए है। इनमें कई भूखंड करोडों रुपए के बताए जा रहे है। इन भूखंडों में कॉमर्शियल के साथ आवासीय भूखंड भी शामिल है। साथ ही ये भूखंड प्राइम लोकेशन पर है या वहां मूलभूत सुविधाएं पहले से ही विकसित है।

जेडीए अधिकारियों के अनुसार शहर में एक हजार से अधिक भूखंड चिह्नित किए गए है। इन भूखंडों में कई प्राइम लोकेशन पर है। इनमें आतिश मार्केट में दुकानों के साथ झालाना में करोडो रुपए के कॉमर्शियल भूखंड भी चिह्नित किए गए है। जेडीए अधिकारियों ने अब इन्हें नीलाम करने की तैयारी शुरू कर दी है। जेडीए ने राजस्व अर्जित करने के लिए सभी जोन उपायुक्तों से अपने—अपने क्षेत्रों में नए भूखंड चिह्नित कर प्रस्ताव मांगे है। जेडीए आयुक्त गौरव गोयल ने इसके लिए सभी जोन उपायुक्तों को आदेश जारी किए थे। 10 बिंदुओं के प्रस्ताव के साथ ही एक फॉर्मेट जारी किया गया, जिसमें इन भूखंडों के बारे में जानकारी मांगी गई। सभी जोन उपायुक्तों ने भूखंड चिह्नित कर प्रस्ताव बनाकर जेडीए प्रशासन को सौंप दिया है।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned