राजस्थान: दिखने लगी नगर निगम चुनाव की रंगत, शुरू हुए चुनाव कार्यालय, तो घर-घर दस्तक के साथ लग रही ‘ऑनलाइन’ धोक

नगर निगम चुनाव 2020, नज़र आने लगी चुनावी रंगत, खुलने लगे प्रत्याशियों के चुनाव कार्यालय, प्रचार सामग्रियों की बिक्री भी पकड़ रही जोर, कोरोना काल में डिजिटल कैम्पेनिंग की भी ली जा रही मदद, संभावित प्रतिद्वंदी को मनाने की मशक्कत में जुटे प्रत्याशी, तो समर्थकों ने शुरू किया घर-घर दस्तक देकर वोट अपील

 

By: nakul

Published: 21 Oct 2020, 10:10 AM IST

जयपुर।

नगर निगम चुनाव की रंगत अब शहरों में जगह-जगह दिखनी शुरू हो गई है। चुनाव मैदान में बने रहने वाले प्रत्याशियों के समर्थकों की टोलियाँ जहां वोट अपील के लिए घर-घर दस्तक देने उतर गईं हैं तो वहीं प्रचार सामग्रीयों की दुकानें भी सज गई हैं। वहीं प्रत्याशियों के चुनाव कार्यालय शुरू होने के सिलसिले ने भी गति पकड़ ली है।

शुरू हुए चुनाव कार्यालय, बन रही रणनीति
पार्टी प्रत्याशियों के अलावा चुनाव मैदान में डटे रहने वाले प्रत्याशियों के चुनाव कार्यालय शुरू होने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। बुधवार को शुभ दिन मानकर कई वार्डों में चुनाव कार्यालय शुरू हुए। इन्हीं चुनावी कार्यालयों से ही वार्ड प्रत्याशी अपनी-अपनी रणनीति बनायेंगे और प्रचार के लिए मैदान में उतरेंगे।

जोर पकड रही प्रचार सामग्रियों की बिक्री
चुनावी माहौल बनाने और संभावित वोटर्स का ध्यान खींचने में प्रचार सामग्रियां खासा अहम् भूमिका निभाती हैं। ऐसे में निगम चुनाव के लिए प्रचार सामग्रियों की दुकानें भी सज गई हैं। राजनीतिक दलों के झंडे-बैनर्स सहित तमाम तरह के प्रचार आईटम्स की बिक्री रफ़्तार पकड़ रही है। कोरोना काल को देखते हुए इस बार ख़ास डिजाइन के मास्क भी प्रचार सामग्री का हिस्सा बन रहे हैं। डिमांड पर बालक ऑर्डर्स भी लिए जा रहे हैं।

सोशल मीडिया पर वोट अपील
प्रत्याशियों का ऑनलाइन प्रचार भी जोर पकड़ रहा है। कई वार्ड प्रत्याशियों ने सोशल मीडिया प्लेफॉर्म्स पर प्रचार अभियान शुरू कर दिया है। कोरोना काल होने के कारण ज़्यादातर प्रत्याशी घर-घर धोक लगाने से ज़्यादा डिजिटल कैम्पेनिंग का सहारा ले रहे हैं। फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्स ऐप पर प्रचार अभियान चलाने वाली कम्पनियाँ भी सक्रीय हो गई हैं। कंपनियों ने चुनाव को भुनाने के लिए स्पेशल पैकेजेज़ भी जारी किये हैं।

धोक लगाने के लिए निकले समर्थक
राजनीतिक दलों के अधिकृत प्रत्याशियों में से ज़्यादातर ने प्रचार-प्रसार और वोट अपील करने की कवायद शुरू कर दी है। हालांकि पार्टी प्रत्याशियों का पूरा जोर अभी बागियों और अन्य निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर टाल ठोकने वालों को मनाने पर केन्द्रित है। लेकिन वार्डों का दायरा बड़ा होने और समय का भरपूर सदुपयोग करने के लिए प्रत्याशी समर्थकों का घर-घर पहुंचकर वोट अपील करने का सिलसिला कई जगहों पर शुरू हो गया है।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned