Jaipur Metro Rail : जयपुर मेट्रो के लिए अच्छी खबर!, जानिए

Jaipur Metro Rail : जयपुर मेट्रो के लिए अच्छी खबर!, जानिए
metro rail

Pawan kumar | Publish: Oct, 09 2019 01:11:03 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर मेट्रो फेज (Jaipur Metro Rail)-2 की नई बन रही डीपीआर
अगले महीने तक बनकर तैयार होगी डीपीआर (DPR)
दिल्ली मेट्रो बना रही है नई डीपीआर
अब तक 2 बार बन चुकी है डीपीआर
पीपीपी मोड (PPP mode)की बजाय सरकार चलाएगी मेट्रो
केन्द्र (Central govt) और राज्य सरकार (state Govt)की 50-50 फीसदी रहेगी भागीदारी
राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार को भेज रखा है प्रस्ताव
डीपीआर बनने के बाद शुरू हो पाएगा काम
नए साल में जयपुर को मिल सकती है सौगात
2020 में शुरू हो सकता है मेट्रो फेज-2 का काम

 

राजधानी जयपुर (pinkcity jaipur) के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट मेट्रो फेज-2 की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) (DPR)अगले महीने तक बनकर तैयार हो जाएगी। इसके लिए राज्य की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gahlot Govt) ने जुलाई 2019 में केन्द्र सरकार (Narendra Modi Govt) को प्रस्ताव भेजा था। जयपुर मेट्रो फेज-2 के लिए गहलोत सरकार ने केन्द्र की मोदी सरकार से 50-50 प्रतिशत निवेश भागीदारी के तहत सहयोग मांगा है। प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने के लिए अब जयपुर मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (JMRC) और दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) मिलकर काम कर रहे हैं।

जानकारी के अनुसार दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन जयपुर मेट्रो फेज-2 को लेकर नई डीपीआर तैयार कर रही है। नई डीपीआर नवम्बर 2019 में बनकर तैयार हो जाएगी। जयपुर मेट्रो फेज-2 की अब तक 2 डीपीआर बन चुकी हैं। पहली डीपीआर वर्ष 2012 में बनी थी। इसके बाद वर्ष 2013 में राज्य में सरकार बदल गई। तत्कालीन सरकार ने वर्ष 2014 में संशोधित डीपीआर बनवाई थी। वर्ष 2018 में फिर राज्य में सरकार बदल गई और अब राज्य सरकार फिर से डीपीआर बनवा रही है। सरकार का तर्क है कि फेज—2 को ज्यादा व्यवहारिक और यूजर फ्रेंडली बनाने लिए आवश्यक बदलाव किए जाएंगे। डीएमआरसी अगले महीने तक नई डीपीआर तैयार कर लेगी।

राज्य सरकार ने देश के कई शहरों में पीपीपी मोड पर मेट्रो संचालन के कटु अनुभवों को देखते हुए खुद ही मेट्रो फेज—2 का काम आगे बढ़ाने की योजना बनाई है। जयपुर मेट्रो फेज—2 में 50 प्रतिशत राशि राज्य सरकार वहन करेगी, तो 50 प्रतिशत राशि केन्द्र सरकार से ली जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेज रखा है। केन्द्र सरकार की मंजूरी के बाद जयपुर मेट्रो और दिल्ली मेट्रो मिलकर काम करेंगे।

नहीं आया निजी निवेश

पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने जयपुर मेट्रो के फेज—2 में निवेश के लिए विदेशी कंपनियों को आमंत्रित किया। सरकार के बुलावे पर चीन, अमेरिका, सिंगापुर, कोरिया और मलेशिया की रेल कंपनियों के प्रतिनिधि जयपुर दौरे पर आए। निवेशक कंपनियों के प्रतिनिधियों ने जयपुर मेट्रो प्रोजेक्ट का प्रजेंटेशन देखा। साथ ही मानसरोवर से चांदपोल तक जयपुर मेट्रो में सफर भी किया। सिंगापुर की कंपनी के प्रतिनिधि तो दो बार जयपुर आए। लेकिन प्रोजेक्ट की 10,300 करोड़ की भारी भरकम लागत को देखते हुए विदेशी कंपनियों ने निवेश से हाथ खींच लिए।

अम्बाबाड़ी से सीतापुरा तक रहेगा रूट!

मौजूदा कांग्रेस सरकार मेट्रो फेज—2 के पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के समय तय किए गए रूट पर रेल चलाएगी। जेएमआरसी ने कुछ अर्सा पहले ही एजिस रेल कंपनी से सर्वे रिपोर्ट तैयार करवाई है। एजिस रेल ने मेट्रो फेज—2 रूट की लम्बाई 23.8 किमी से ज्यादा करने का सुझाव दिया है। रिपोर्ट में मेट्रो का रूट सीतापुरा से आगे वाटिका मोड़ तक करने का सुझाव दिया गया। जयपुर मेट्रो के लिए टोंक रोड पर ज्यादा यात्रीभार को देखते हुए इसका मुख्य रूट टोंक रोड पर ही करने का प्रस्ताव दिया है। साथ ही जेएलएन रोड पर एयरपोर्ट को देखते हुए टोंक रोड से जेएलएन रोड पर बीआरटीएस की तर्ज पर मेट्रो का अलग से रूट बनाने का प्रपोजल दिया है। जेएलएन रोड पर अलग से रूट बनाने पर मेट्रो का अंडरग्राउंड स्टेशन स्टेट हैंगर की पार्किंग वाली जगह पर बनेगा। मेट्रो फेज—2 प्रोजेक्ट की लागत कम करने और इसे उपयोगी बनाने के तौर तरीके ढूंढ़ने में जुटी फ्रेंच कंपनी एजिस रेल ने इस बारे में सुझाव दिए हैं।

डीपीआर में अब तक ये हुए बदलाव


मेट्रो फेज—2 डीपीआर 2012

अनुमानित लागत — 6,583 करोड़
लम्बाई — 23.099 किमी
अंडरग्राउंड हिस्सा — 5.095 किमी
एलिवेटेड हिस्सा — 18.04 किमी
कुल स्टेशन — 20
अंडरग्राउंड स्टेशन — 05
एलिवेटेड स्टेशन — 15

मेट्रो फेज—2 की संशोधित डीपीआर 2014
अनुमानित लागत — 10,300 करोड़
लम्बाई — 23.8 किमी
एलिवेटेड हिस्सा — 13.808 किमी
अंडरग्राउंड हिस्सा — 9.963 किमी
कुल स्टेशन — 20
अंडरग्राउंड स्टेशन — 07
एलिवेटेड स्टेशन — 13

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned