मुस्लिम वार्डों में निर्दलीयों के हाथों में है भाजपा की पतवार !

शहर का चारदीवारी इलाका जो नगर निगम हैरिटेज में आता है, उसमें जबर्दस्त चुनावी घमासान होने वाला है। अब तक मुस्लिमों को टिकट देने से बचने वाली भाजपा इस बार मुस्लिमों को टिकट देने का मन बना चुकी है। मगर कांग्रेस के इस परम्परागत वोटबैंक से भाजपा को वोट मिलने की उम्मीद कम ही है।

By: Umesh Sharma

Published: 16 Oct 2020, 08:38 PM IST

जयपुर।

शहर का चारदीवारी इलाका जो नगर निगम हैरिटेज में आता है, उसमें जबर्दस्त चुनावी घमासान होने वाला है। अब तक मुस्लिमों को टिकट देने से बचने वाली भाजपा इस बार मुस्लिमों को टिकट देने का मन बना चुकी है। मगर कांग्रेस के इस परम्परागत वोटबैंक से भाजपा को वोट मिलने की उम्मीद कम ही है। ऐसे में पार्टी ने निर्दलीय उम्मीदवारों पर निगाहें गड़ा दी हैं। या यह कहें कि मुस्लिम वार्डों में भाजपा की पतवार निर्दलीयों के हाथों में नजर आ रही है।

दरअसल, कांग्रेस से टिकट चाहने वाले मुस्लिम टिकटार्थियों की लंबी फेहरिस्त है। एक वार्ड से एक दर्जन से भी ज्यादा मुस्लिम टिकटार्थी वोट मांग रहे हैं। पार्टी किसी एक को टिकट देगी, ऐसे में बड़ी संख्या में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मुस्लिम मैदान में उतरकर कांग्रेस के वोटबैंक में सेंधमारी करेगी। भाजपा को इस सेंधमारी से ही जीत की किरन नजर आ रही है। अगर मुस्लिम वोटों में सेंधमारी होती है तो अन्य जातियों के वोटर प्रत्याशी की जीत तय करेंगे।

तीन विधानसभा मुस्लिम बाहुल्य

चारदीवारी की हवामहल, आदर्श नगर और किशनपोल मुस्लिम बाहुल्य सीटें हैं। इन तीनों सीटों में मुस्लिम बाहुल्य वार्डों की संख्या ज्यादा है। ऐसे में तीनों ही विधानसभा में भाजपा को जीत के लिए पसीना बहाना पड़ेगा। हालांकि लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी को हवामहल और किशनपोल विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी से ज्यादा वोट मिले थे, जबकि आदर्श नगर विधानसभा में कांग्रेस के खाते में ज्यादा वोट गए थे। मगर नगर निगम चुनाव लोकसभा से बिलकुल अलग हैं।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned