​नगर निगम का पिछले दस महीने का कार्यकाल सबसे भ्रष्ट

​नगर निगम का पिछले दस महीने का कार्यकाल सबसे भ्रष्ट
​नगर निगम का पिछले दस महीने का कार्यकाल सबसे भ्रष्ट

Umesh Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 09:05:22 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

नगर निगम ( Jaipur Nagar Nigam ) में महिला उत्थान समिति चेयरमैन सुमन गुर्जर ( Suman Gurjar ) को रिश्वत मामले में एसीबी (Acb ) द्वारा पकडऩे के बाद सियासत तेज हो गई है। खासकर भाजपा को महापौर विष्णु लाटा को घेरने का मौका मिल गया है। पूर्व महापौर और सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ( Mla Ashok Lahoty ) ने इस मामले को लेकर लाटा पर जुबानी हमला बोला है।

जयपुर।

लाहोटी ने आरोप लगाया कि निगम के पिछले 10 माह का इतिहास का सबसे भ्रष्ट काल है। उन्होंने लाटा पर अपने चहेते पार्षदों, चैयरमेनों को ठेकेदारों से कमीशन दिलवाने का आरोप भी लगाया।
लाहोटी प्रेस वार्ता में कहा कि लोकसभा आचार संहिता लगने वाले दिन ही नगर निगम से करीब 350 करोड़ रुपए के टेण्डरों को सेंक्शन किया गया था। जबकि राजस्थान ट्रांसपेरेंसी पब्लिक प्रोक्योरमेंट एक्ट (आरपीपीटी) में स्पष्ट प्रावधान है कि कोई भी टेण्डर की प्रक्रिया 50 दिन में पूरी होगी। नगर निगम इस प्रक्रिया के तहत फाइलें 27 स्थानों से होकर गुजरती है। लेकिन आचार संहिता को देखते हुए इन टेण्डरों की फाइलों को केवल महापौर, आयुक्त और वित्त सलाहाकार के ईद-गिर्द ही रखा गया।

फाइल ट्रैकिंग सिस्टम भी खराब
उन्होने आरोप लगाया कि नगर निगम के फाइल ट्रैकिंग सिस्टम को भी खराब बताते हुए बंद कर दिया गया। इसके पीछे वजह इतनी बड़ी संख्या में टेण्डरों को मंजूरी देने के पीछे कारण मोटा कमीशन लेना था। केवल वर्क ऑर्डर देने पर ही कमीशन लेने के आरोप लाहोटी ने लगाए। उन्होने कहा कि एसीबी अगर सुमन गुर्जर मामले में ही सही से जांच करें तो इसमें महापौर, उनके चहेते चैयरमेन और निगम के अधिकारियों के भी तार जुड़े मिलेंगे।

चहेते पार्षदों के वार्ड में ज्यादा काम
लाहोटी ने आरोप लगाए कि लाटा को मेयर बनाने और सदन में सहयोग करने वाले कुछ चहेते पार्षदों व चैयरमेनों पर ही महापौर मेहरबानी कर रहे हैं। इन सभी के वार्डों में १० से १२ करोड़ रुपए वर्कऑर्डर जारी किए हैं। वार्ड संख्या 8, 33, 34, 35, 39, 49, 46, 71, 42 और 28 में अभी सबसे ज्यादा काम भी हो रहे हैं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned