राजस्व वसूली में फेल हुए दोनों नगर निगम, हैरिटेज की हालत खस्ता

—हैरिटेज को एक साल में केवल 21.77 करोड़ रुपए की हुई कमाई
—ग्रेटर को पिछले साल के मुकाबले 13 करोड़ रुपए ज्यादा मिला राजस्व

By: Umesh Sharma

Published: 03 Apr 2021, 04:20 PM IST

जयपुर।

जयपुर के दोनों नगर निगम ही इस बार राजस्व वसूली में फुस्स साबित हुए हैं। इसमें हैरिटेज नगर निगम का तो हाल—बेहाल है। पूरे साल में हैरिटेज निगम को महज 21.77 करोड़ रुपए की आय हुई है, जो पिछले साल के मुकाबले 32.58 करोड़ रुपए कम है। वहीं ग्रेटर की बात की जाए तो पिछले साल कोविड की वजह से यहां कमाई कम हो पाई थी, लेकिन इस साल ग्रेटर की कमाई में अच्छा खासा इजाफा हुआ है। पिछले साल ग्रेटर को कुल 77 करोड़ रुपए की आय हुई थी जो वर्ष 2020—21 में बढ़कर करीब 95 करोड़ रुपए पहुंच गई है। हालांकि निगम प्रशासन का दावा है कि आय के इन आंकड़ों में और बढ़ोतरी होगी, क्योंकि अभी तक सभी जगह से आखिरी दिन की कमाई के आंकड़े प्राप्त नहीं हो पाए हैं।

स्पेरो कंपनी ने लक्ष्य हासिल किया, मगर 10 प्रतिशत जाएगा कंपनी के पास

नगर निगम ग्रेटर और हैरिटेज दोनों ही जगहों पर स्पेरो कंपनी को यूडी टैक्स वसूली का ठेका दिया गया था। ग्रेटर में कंपनी को 48 करोड़ रुपए की राजस्व वसूली का लक्ष्य दिया था और कंपनी ने करीब 63 करोड़ रुपए राजस्व वसूली की है। यानि कंपनी ने अपना लक्ष्य प्राप्त कर लिया है। हालांकि इसका दस प्रतिशत कंपनी के खाते में जाएगा।

अटक गया शहर का विकास

पिछले एक साल से शहर का विकास अटका हुआ है। पहले लॉक डाउन और फिर कोरोना की परिस्थितियों की वजह से दोनों ही नगर निगम टैक्स वसूली में सख्ती नहीं दिखा पाए, जिसकी वजह से राजस्व ज्यादा नहीं मिल पाया। यही वजह रही कि दोनों ही निगम के खजाने खाली पड़े हैं, जिसकी वजह से शहर में सड़क, सीवर सहित सभी तरह के विकास के काम अटके पड़े हैं। ग्रेटर निगम में तो पिछले तीन महीने से ठेकेदारों की हड़ताल चल रही है, जिसकी वजह से सभी तरह के काम ठप पड़े हैं। हालांकि हुडको की तरफ से दोनों ही निगमों को 565 करोड़ रुपए का लोन पास हुआ है, ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि एक बार फिर शहर का विकास शुरू होगा।

ग्रेटर नगर निगम को मिला राजस्व (करोड़ रुपए)

वर्ष—————2019-20—————2020-21

यूडी टैक्स————44.36————62.67
होर्डिंग—27.05—————15.84
पार्किंग—1.52————0.76
मोबाइल टावर——2.30————4.28
डेयरी बूथ—0.13————1.35
विवाह स्थल—1.65————10.30
कुल————77.01————94.90
राजस्व बढ़ा———17.89


हैरिटेज नगर निगम को मिला राजस्व (करोड़ रुपए)

वर्ष————2019-20——————2020-21

यूडी टैक्स—29.57 ————11.06
होर्डिंग—18.03————————5.17
अरबन असेसमेंट——3.09————2.12
पार्किंग— 1.01————0.63
मोबाइल टावर——1.53———1.59
डेयरी बूथ—0.00————0.25
विवाह स्थल—1.10————0.92
कुल————54.35————21.77
राजस्व घटा———32.58

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned