भारत छोड़ों आंदोलन की वर्षगांठ पर सरकार ने किया स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान

Freedom fighters honored : भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ के मौके पर रविवार को राजस्थान सरकार की ओर से स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान किया गया। कोविड-19 व स्वतंत्रता सेनानियों की अधिक उम्र को दृष्टिगत रखते हुए संबंधित जिलों के जिला मजिस्टे्रट, उप जिला कलक्टर या उपखंड अधिकारी घर पर जाकर उनका अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तरफ से सबसे पहले उप जिला कलक्टर जगत राजेश्वर स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वर चौधरी का सम्मान करने उनके निवास पर पहुंचे।

By: Devendra Singh

Updated: 09 Aug 2020, 02:47 PM IST

जयपुर। भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ के मौके पर रविवार को राजस्थान सरकार की ओर से प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान किया गया। कोविड-19 व स्वतंत्रता सेनानियों की अधिक उम्र को दृष्टिगत रखते हुए संबंधित जिलों के जिला मजिस्टे्रट, उप जिला कलक्टर या उपखंड अधिकारी ने निवास पर जाकर उनका अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तरफ से सबसे पहले उप जिला कलक्टर जगत राजेश्वर स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वर चौधरी का सम्मान करने उनके निवास पर पहुंचे। जगत राजेश्वर ने चौधरी को प्रशस्ति पत्र देकर शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया और दीर्घायु की कामना की।

वहीं प्रदेश कांग्रेस समिति की ओर से भी स्वतंत्रता सेनानियों का घर-घर जाकर सम्मान किया गया। हालांकि हर साल स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में होता आया है, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के कारण प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय की बजाए घर जाकर ही उनका सम्मान करने का निर्णय लिया गया था। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष मुमताज मसीह, पूर्व महामंत्री रूपेशकांत व्यास, सत्येंद्र भारद्वाज, आनंद व्यास, पंकज दाधीच, राधाकृष्ण जांगिड़ समेत तमाम कांग्रेस के नेताओं ने स्वतंत्रता सेनानियों के घर-घर जाकर उनका सम्मान किया। कांग्रेस नेताओं ने सबसे पहले स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वर चौधरी के घर जाकर उनका शॉल ओढ़ाकर और श्रीफल भेंट कर उनका सम्मान किया।

इनका भी किया सम्मान स्वतंत्रता सेनानी

प्रदेश में अब केवल 7 स्वतंत्रता सेनानी ही बचे हैं, जिसमें से चार स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वर चौधरी, रामूजी सैनी, सुंदर देवी आजाद, राजेंद्र नाथ भार्गव जयपुर में हैं। जबकि कमला स्वाधीन कोटा में, शोभा राम गहरवार अजमेर में, कालीदास स्वामी सीकर के रींगस में रहते है। इन सभी का सम्मान किया गया। जिन जिलों में स्वतंत्रता सेनानी नहीं है, वहां वयोवृद्ध कांग्रेस नेताओं का सम्मान किया गया।

Devendra Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned