निर्जल रह कर इस तरह करें पापों का शमन

nirjala ekadashi vrat vidhi: जेष्ठ शुक्ल पक्ष में पडने वाली निर्जला एकादशी राजधानी जयपुर सहित प्रदेशभर में मंगलवार को भक्तिभाव के साथ मनाई जाएगी। लोग पूरे दिन निर्जल रह कर व्रत का पालन करेंगे। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस एकादशी को निर्जल रह कर उपवास करने भर से वर्ष की 24 एकादशियों के व्रत के समान फल मिलता है तथा सभी प्रकार के पापों का शमन होता है। इस एकादशी को भीमसेनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है।

By: Devendra Singh

Updated: 01 Jun 2020, 10:37 PM IST

जयपुर। जेष्ठ शुक्ल पक्ष में पडने वाली निर्जला एकादशी राजधानी जयपुर सहित प्रदेशभर में मंगलवार को भक्तिभाव के साथ मनाई जाएगी। लोग पूरे दिन निर्जल रह कर व्रत का पालन करेंगे। यानि इस दिन व्रत रखने वाला सूर्योदय से सूर्योदय तक पानी नहीं पीता है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस एकादशी को निर्जल रह कर उपवास करने भर से वर्ष की 24 एकादशियों के व्रत के समान फल मिलता है तथा सभी प्रकार के पापों का शमन होता है। इस एकादशी को भीम सैनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। ऋषि वेदव्यास जी के अनुसार इस एकादशी को पांडव पुत्र भीम ने किया था। इसी वजह से इसे भीम सैनी एकादशी भी कहते है।
ज्योतिषाचार्य पं. सुरेश शास्त्री के अनुसार इस दिन पवित्र नदी या सरोवर में स्नान करने की परंपरा है। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते किसी पवित्र नदी या सरोवर में स्नान करना तो संभव नहीं होगा, ऐसे में घर पर पानी में गंगा जल मिलाकर स्नान करें। स्नान के बाद घर के मंदिर में पूजा करें और पितरों के लिए तर्पण करें। निर्जला एकादशी के दिन भगवान विष्णु को पीले रंग के कपड़े, फल और अन्न अर्पित करना चाहिए। भगवान विष्णु की पूजा के उपरांत इस चीजों को किसी ब्राह्मण को दान कर देना चाहिए। इस दिन गरीबों और ब्रह्मणों को कपड़े, छाता, जूता, फल, मटका, पंखा, शर्बत, पानी, चीनी आदि का दान करने से कई गुना अधिक फल मिलता है।
इस एकादशी पर विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना भी उत्तम होता है। अगर निर्जला एकादशी का व्रत न भी कर पाएं तो इस दिन अपनी सामर्थ्य के अनुसार दान अवश्य करें।

एकादशी के मौके पर गोविन्द देव जी मंदिर सहित कई मंदिरों में जल विहार की झांकियां सजाई जाएगी। श्रद्धालु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए शक्कर युक्त जल से भरे मिट्टी के घड़े, खरबूजा, आम, पंखी ठाकुरजी का अर्पित कर पुण्यार्जन करेंगे।

Devendra Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned