निजी खातेदारी की योजनाओं में सख्ती, अपनी योजनाओं को विकसित करना भूला जेडीए

पहली बार: अब तक निजी खातेदारी की आवासीय योजनाओं में 180 भूखंडों को जब्त कर चुका है जेडीए

By: Ashwani Kumar

Published: 13 Sep 2021, 11:14 AM IST

जयपुर। निजी खातेदारी की आवासीय योजनाओं में विकास कार्य न कराने पर जेडीए सख्ती दिखा रहा है। गिरवी रखे भूखंडों को जब्त कर रहा है और अब उन भूखंडों को नीलाम करेगा। इसके इतर जेडीए की योजनाओं को देखें तो वहां भी स्थिति ऐसी ही है। वहां पर भी लोगों को विकास कार्यों का इंतजार है। शिकायत जेडीए में करने आते हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती। हालांकि, सहूलियत की बात यह है कि 2020 के बाद
जेडीए ने अपनी आवासीय योजनाओं का ढर्रा सुधारा है और विकास कार्य पहले कराना शुरू कर दिए है। लेकिन, पिछली आवासीय योजनाओं में विकास कार्यों की कोई ठोस कार्ययोजना नहीं बन पाई है।

180 भूखंड किए जब्त
राजस्थान टाउनशिप पॉलिसी—2010 के तहत विकासकर्ताओं ने निजी खातेदारी की जमीन पर आवासीय कॉलोनियों का अनुमोदन कराना शुरू किया। हालांकि, विकास कार्य की गति धीमी रही। कई बार जेडीए ने विकास कार्य कराने के लिए निर्देश दिए, लेकिन विकास कार्य शुरू नहीं कराए। इसी को ध्यान में रखते हुए पहली बार जेडीए ने गिरवी रखे 12.5 फीसदी भूखंडों में से जब्ती शुरू की। अब तक जेडीए 180 भूखंडों को जब्त कर चुका है। इनकी जेडीए नीलामी करेगा। जो पैसा आएगा उससे कॉलोनी में विकास कार्य कराए जाएंगे।


18 हजार भूखंड बेचकर कमाए 500 करोड़
पिछले पांच वर्षों में जेडीए की करीब 50 आवासीय योजनाएं आईं। ग्राहकों ने इन पर विश्वास भी जताया। 20 हजार भूखंडों में से 85 से 90 फीसदी तब बिक भी गए। लेकिन, इसके बाद भी योजनाओं यहां लोगों को विकास कार्यों का इंतजार है। जबकि, जेडीए को इन भूखंडों से 500 करोड़ रुपए से अधिक की आय हुई। हालांकि, पिछले वर्ष अगस्त में आईं चार आवासीय योजनाओं में जेडीए विकास कार्य करवा रहा है।


ये और होता
जेडीए की आवासीय योजना आने से आस—पास के दामों में बढ़ोत्तरी हो जाती है। जेडीए की योजना तो विकसित नहीं हो पाती, लेकिन आस—पास अव्यवस्थित विकास शुरू हो जाता है। क्योंकि कुछ विकासकर्ता ग्राहकों को जेडीए योजना की वजह से सुविधाएं जल्द विकसित होने की बात कहते हैं।

फैक्ट फाइल
—769 निजी कॉलोनियों में विकास कार्य हैं अधूरे
—68 हजार से अधिक भूखंड सृजित हैं इन कॉलोनियों में
—2902 भूखंड गिरवी रखे हैं जोन—11 की 209 कॉलोनियों के
—511 विकासकर्ताओं को जेडीए ने मार्च में जारी किए थे नोटिस

वर्जन..
नई आवासीय योजनाओं में विकास कार्य कराए जा रहे हैं। इसके लिए अलग से कार्यादेश जारी किए हैं। जहां तक पुरानी योजनाओं में विकास कार्यों की बात है, तो उसके लिए जल्द बैठक कर योजनाएं बनाएंगे।
—गौरव गोयल, जेडीसी

Ashwani Kumar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned