जलापूर्ति की जमीनी हकीकत जांच रहा जलदाय विभाग

जलदाय विभाग (Water supply department) ने शहर में आगामी गर्मियों में पेयजल आपूर्ति (Drinking water supply) की पर्याप्त व्यवस्था के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए विभाग जलापूर्ति की जमीनी हकीकत जांच रहा है। शहर में कम प्रेशर से पेयजल पहुंचने वाले क्षेत्रों को चिन्हित किया जा रहा है। सभी फील्ड इंजिनियर्स को जलापूर्ति की जमीनी हकीकत जांचने के लिए जिम्मेदारी दी है। इंजिनियर्स के अलग-अलग टारगेट तय किए गए है।

By: Girraj Sharma

Updated: 26 Dec 2020, 09:06 PM IST

जलापूर्ति की जमीनी हकीकत जांच रहा जलदाय विभाग

- गर्मियों में पेयजल की पर्याप्त आपूर्ति की कवायद शुरू
- जलदाय विभाग ने अभी से शुरू की तैयारी

जयपुर। जलदाय विभाग (Water supply department) ने शहर में आगामी गर्मियों में पेयजल आपूर्ति (Drinking water supply) की पर्याप्त व्यवस्था के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए विभाग जलापूर्ति की जमीनी हकीकत जांच रहा है। शहर में कम प्रेशर से पेयजल पहुंचने वाले क्षेत्रों को चिन्हित किया जा रहा है। सभी फील्ड इंजिनियर्स को जलापूर्ति की जमीनी हकीकत जांचने के लिए जिम्मेदारी दी है। इसके लिए सभी इंजिनियर्स के अलग-अलग टारगेट तय किए गए है।
जलदाय विभाग ने शहर में सुबह-शाम जलापूर्ति की माॅनिटरिंग शुरू कर दी है। फील्ड इंजिनियर सुबह और शाम की पेयजल सप्लाई के समय पूरे शहर में पेयजल का प्रेशर चैक कर रहे हैं। इंजिनियर क्षेत्रवार इसकी एक रिपोर्ट तैयार कर रहे है। इंजिनियर्स की रिपोर्ट के आधार पर ही गर्मियों में क्षेत्रवार पयेजल आपूर्ति की व्यवस्था की जाएगी। यह काम आगामी गर्मियों से पहले पूरा किया जाएगा, जिसमें पेयजल उपलब्धता के लिए टयूबवैल की जरूरतों और बीसलपुर सिस्टम से अतिरिक्त पानी लेने की तैयारी की जाएगी।

अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल के अनुसार गर्मियों में पेजयल की आपूर्ति की अभी से तैयारियां करने के निर्देश दिए है। इसके लिए पेयजल आपूर्ति की मॉनिटरिंग शुरू कर दी गई है। इंजिनियर्स सुबह और शाम को अपने-अपने क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति के दौरान पानी के प्रेशर आदि की जांच कर रहे है। जहां पानी कम दबाव से आ रहा है, उन क्षे़त्रों को चिह्नित कर वहां पेयजल की अलग से व्यवस्था की जाएगी। जहां पाइप लाइन डालने की जरूरत होगी या लाइन बदलने की जरूरत होगी, उसे बदला जाएगा। नई लाइन के लिए प्रपोजल तैयार किया जाएगा। जो क्षेत्र रह गए वहां लाइन जोडी जाएगी। यह काम अगले दो माह में पूरा कर लिया जाएगा।

यह भी तैयारी
गर्मियों से पहले शहर में टंकियों की साफ-सफाई का काम भी कर लिया जाएगा। वहीं इंजिनियर्स की रिपोर्ट के आधार पर जहां जरूरत होगी, वहां टयूबवैल की मरम्मत का काम भी किया जाएगा।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned