एसएचओ ने गाली दी, पीटा. मुकदमा दर्ज होने में लग गए दो महीने

एसएचओ के खिलाफ मारपीट की धाराओं समेत एससी एसटी एक्ट एवं अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच एसीपी आदर्श नगर डॉ. संध्या यादव को सौंपी गई हैं। दोनो पक्षों से पूछताछ के बाद इस मामले की जांच आगे बढेगी।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 26 Dec 2020, 01:12 PM IST

जयपुर
पुलिस मुख्यालय में बैठे अफसर मुकदमें दर्ज करने और कराने को लेकर चाहे कितनी ही पारदर्शिता अपनाए जाने की बातें करें लेकिन हालात अभी भी नहीं बदले हैं और फिर मामला खुद पुलिस के खिलाफ हो तो हालात और ज्यादा खराब हो जाते हैंं।

राजधानी जयपुर से ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां पर एक दुकानदार को थानाधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने में पूरे दो महीने का समय लग गया। अब कोर्ट के निर्देशों के बाद मुकदमा दर्ज कराया गया है और इसकी जांच एसीपी कर रही हैं। दरअसल दसवें महीनें की 25 तारीख को आदर्श नगर स्थित एक मीट शॉप के संचालक घनश्याम का किसी बात को लेकर एसएचओ आदर्श नगर अरुण कुमार से विवाद हो गया।

आरोप है कि एसएचओ ने मीट शॉप संचालक को बुरा भला कहा और जाति ***** शब्द कहे। बाद में विवाद बढ़ा और इसे लेकर हंगामा भी हुआ। घनश्याम ने मुकदमा दर्ज कराने की कोशिश की लेकिन दर्ज नहीं हुआ। बाद में अब जाकर 25 दिसम्बर को यह मुकदमा दर्ज किया गया है। एसएचओ के खिलाफ मारपीट की धाराओं समेत एससी एसटी एक्ट एवं अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच एसीपी आदर्श नगर डॉ. संध्या यादव को सौंपी गई हैं। दोनो पक्षों से पूछताछ के बाद इस मामले की जांच आगे बढेगी।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned