ज्येष्ठ माह रविवार से, ठाकुरजी को गर्मी से राहत देने के लिए शुरु हुए उपाय, ये होंगे कार्यक्रम

ज्येष्ठ माह रविवार से, ठाकुरजी को गर्मी से राहत देने के लिए शुरु हुए उपाय, ये होंगे कार्यक्रम

Deepshikha | Publish: May, 17 2019 05:21:50 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

हिन्दू पंचाग के तीसरे माह ज्येष्ठ मास की शुरुआत रविवार से

हर्षित जैन / जयपुर. ज्येष्ठ माह में ठाकुरजी को गर्मी के प्रकोप से बचाने के लिए कई उपाय किए जाएंगे। जलयात्रा झांकियों के साथ ही पूरे महीने मंदिरों में जलयात्रा उत्सव कार्यक्रम होंगे। यह उत्सव शनिवार को पीपल पूर्णिमा से शुरू होंगे। ठाकुरजी को गुलाब जल, केवड़ा जल युक्त जल से फव्वारों से ठंडक देने के साथ शीतल ऋतु फल अर्पित किए जाएंगे।

विशेष तिथियों पर जलविहार यात्रा करवाई जाएगी। गोविन्ददेवजी मंदिर में शनिवार को जल यात्रा उत्सव शुरू होगा। महंत अंजन कुमार गोस्वामी के सान्निध्य में पहली जलयात्रा स्नान यात्रा झांकी के दर्शन दोपहर 12.30 से 1 बजे तक होंगे। इसके अलावा अन्य मंदिरों में जलयात्रा उत्सव होंगे।

देवस्थान विभाग के मंदिर चांदनी चौक स्थित आनंद कृष्ण बिहारी मंदिर में पुजारी पं.मातृप्रसाद शर्मा के सान्निध्य में प्रतिपदा तिथि 19 मई, षष्ठी 24 मई को, एकादशी 30 मई को, प्रतिपदा चार जून को, षष्ठी आठ जून को, एकादशी 13 जून को, पूर्णिमा 17 जून को 1 से 1.30 बजे तक जलयात्रा उत्सव होगा।

 

ज्येष्ठ मास की शुरुआत रविवार से, आज पीपल पूर्णिमा का अबूझ सावा

हिन्दू पंचाग के तीसरे माह ज्येष्ठ मास की शुरुआत रविवार से होगी। पं.दामोदर प्रसाद शर्मा के मुताबिक इस माह में ओर तेज गर्मी बढ़ेगी, यह मास 17 जून तक रहेगा। ज्येष्ठ मास में खास बात यह है कि इस बार 3 जून को सोमवती पितृ अमावस्या और 17 जून को पूर्णिमा भी सोमवार को आएगी, जिससे कारण यह सभी राशि के जातकों के लिए दान पुण्य करने के लिहाज से विशेष फलदायी साबित होगी। वहीं देश के लोकतंत्र में आने वाली नई सरकार भी जनता के हित के फैसलों को भी नई गति मिलेगी।

बुद्ध पूर्णिमा, पीपल पूर्णिमा आजवैसाख मास की आखिरी पूर्णिमा पीपल पूर्णिमा शनिवार को होगी। अबूझ मुहूर्त होने के चलते शहर में एकल और सामूहिक विवाहों की धूम रहेगी। इस दिन भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था, बोधगया में पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर ज्ञान प्राप्ति के लिए तपस्या की थी। महात्मा बुद्ध को सृष्टि के पालनहार हरि विष्णु का नौवां अवतार माना जाता है। मान्यतानुसार इस दिन शुरू किए गए सफलतादायक साबित होते हैं। इस दिन मंदिरों में यमराज और धर्मराज के निमित्त जलकुंभदान किया जाएगा। वहीं गंगा स्नान का विशेष महत्व माना गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned