कबाड़ी को कोई रद्दी में बेच गया हजारों ‘आधार कार्ड‘, लोग करते रह गए ‘आधार‘ आने का इंतजार

dinesh saini

Publish: Jun, 15 2018 03:22:42 AM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
कबाड़ी को कोई रद्दी में बेच गया हजारों ‘आधार कार्ड‘, लोग करते रह गए ‘आधार‘ आने का इंतजार

कबाड़ी ने दी पुलिस और पार्षद को सूचना, पार्षद ने की सरकार से तत्काल एक्शन लेने की मांग...

 

जयपुर। जालूपुरा थाना इलाके में एक कबाड़ी के पास गुरुवार को हजारों की संख्या में आधार कार्ड मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही वार्ड 76 के पार्षद कबाड़ी की दुकान में पहुंचे और उनकी जांच की तो वे सभी वार्ड 76 में निवास कर रहे लोगों के निकले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आधार कार्ड कब्जे में लेकर जीपीओ को बुला संभलवा दिए। मामले में पार्षद ने सरकार से तत्काल एक्शन लेने की मांग की है वहीं पुलिस और जीपीओ आधार कार्ड कैसे कबाड़ी तक पहुंचे इस मामले की जानकारी जुटाने में लगी है।

 

अखबार के बंडल के बीच में हजारों आधार कार्ड
थानाधिकारी लिखमाराम ने बताया कि दोपहर करीब 12 बजे जालूपुरा में छोटी मस्जिद के पास कबाड़ी का काम करने वाले सलाम का फोन आया कि उसके पास एक कट्टा भरकर कोई रद्दी बेच कर गया था। बाद में जब कट्टा खोला तो अखबार के बंडल के बीच में हजारों आधार कार्ड निकले।

 

लापरवाही का मामला
पुलिस ने सभी आधार कार्ड को लेकर गिनती की जो 1830 निकले। इसके बाद जनरल पोस्ट ऑफिस में सूचना देकर अधिकारियों को बुलवाया और पूरा मामले की जानकारी दी। प्रांरभिक दृष्टि से मामला लापरवाही का सामने आ रहा है, जीपीओ के अधिकारियों का कहना है कि आधार कार्ड पर एक कोड होता है, उससे जानकारी हो जाएगी कि आखिर लापरवाही किस स्तर पर हुई। वहीं पुलिस जीपीओ की रिपोर्ट के बाद ही अपनी कार्रवाई अमल में लाएगी। वहीं सलीम कबाड़ी से रद्दी बेचने वालों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है।

 

पार्षद का आरोप, जानबूझकर तो नहीं रखे गए हैं आधार
वहीं कबाड़ी सलाम की सूचना पर पहुंचे पार्षद मोहम्मद इकरामुद्दीन ने आरोप लगाया कि जानबूझकर एक ही वार्ड के हजारों आधार कार्ड को बांटने की बजाय रोका गया और फिर मौका मिलते ही रद्दी में बेचा गया। कई लोग इन आधार कार्ड के आने का इंतजार कर रहे होंगे। सरकार की संवेदनशीलता उजागर होती है। इस मामले में जिम्मेदारों पर भी सरकार क्या कार्रवाई करेगी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned