स्मार्ट सिटी का स्मार्ट काम : 15 दिन पहले जिस बरामदे की मरम्मत की, सुबह भरभरा कर गिर पड़ा

स्मार्ट सिटी (Smart City) के तहत परकोटे के बाजारों में हो रहे काम की शुक्रवार सुबह पोल खुलकर सामने आ गई। 15 दिन पहले जिस बरामदें की छत की मरम्मत की गई, सुबह एक साथ चार दुकानों के बाहर बरामदा गिर पड़ा। गनीमत रही कि सुबह दुकानें खुलने से पहले त्रिपोलिया बाजार (Tripolia Market) में बरामदा गिर पड़ा, जिससे कोई जनहानी नहीं हुई। वहीं जिम्मेदार अधिकारी बरामदों की नींव कमजोर होने का तर्क दे रहे है।

By: Girraj Sharma

Updated: 16 Apr 2021, 08:21 PM IST

स्मार्ट सिटी का स्मार्ट काम : 15 दिन पहले जिस बरामदे की मरम्मत की, सुबह भरभरा कर गिर पड़ा
— त्रिपोलिया बाजार में चार दुकानों की छत गिरी
— स्मार्ट सिटी के तहत बाजार में हो रही बरामदों की मरम्मत

जयपुर। स्मार्ट सिटी (Smart City) के तहत परकोटे के बाजारों में हो रहे काम की शुक्रवार सुबह पोल खुलकर सामने आ गई। 15 दिन पहले जिस बरामदें की छत की मरम्मत की गई, सुबह एक साथ चार दुकानों के बाहर बरामदा गिर पड़ा। गनीमत रही कि सुबह दुकानें खुलने से पहले त्रिपोलिया बाजार (Tripolia Market) में बरामदा गिर पड़ा, जिससे कोई जनहानी नहीं हुई। वहीं जिम्मेदार अधिकारी बरामदों की नींव कमजोर होने का तर्क दे रहे है।

त्रिपोलिया बाजार (Tripolia Market) में करीब 30 से 40 दुकानों के बाहर बरामदों की छत टूटी हुई है, स्मार्ट सिटी के तहत इन बरामदों की मरम्मत का काम चल रहा है। सुबह बड़ी चौपड़ के पास दुकान नम्बर 153 से 156 के बाहर बरामदे की छत सुबह भरभरा कर गिर पड़ी। इस बरामदें की मरम्मत स्मार्ट सिटी के तहत 15 दिन पहले ही की गई थी। त्रिपोलिया बाजार व्यापार मंडल अध्यक्ष राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि 15 दिन पहले ही बरामदें की छत की मरम्मत की गई थी। बरामदें के उपर धड़ डाली गई थी, तब एक दुकान के उपर हैम्मर मशीन से पुरानी छत को उधेड़ा गया था, जिससे आस—पास की दुकानों के बाहर वर्षों पुरानी बरामदें की छत की पट्टियां हिल गई, तब व्यापारियों ने इसका विरोध भी किया था, लेकिन स्मार्ट सिटी वालों ने व्यापारियों की एक नहीं सुनी। सुबह एक साथ चार दुकानों के बाहर बरामदें की छत गिर गई। अगर बाजार खुलने के बाद छत गिरती तो बड़ी जनहानी हो सकती थी।

मौके पर पहुंचे अधिकारी
हादसा होने के बाद स्मार्ट सिटी के अलावा नगर निगम के अधिकारी और पुलिस मौके पर पहुंची। जेसीबी को बुलाकर मलबा हटाया गया। दिनभर चारों दुकानों के साथ आसपास की दुकानें भी बंद रही। आसपास के व्यापारियों में भी बरामदा गिरने का डर बैठा हुआ है। थोड़ा हिस्सा दुकान नंबर 152 का भी गिरा। दुकान नंबर 152 और 157 के बाहर बरामदों को रोकने के लिए पिल्लर लगाए गए।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned