scriptJaipur Smart City work not progress bhopal udaipur news | Jaipur Smart City...छह साल 10 महीने में 40 फीसदी काम, अब 14 माह में 60% काम बना चुनौती | Patrika News

Jaipur Smart City...छह साल 10 महीने में 40 फीसदी काम, अब 14 माह में 60% काम बना चुनौती

स्मार्ट सिटी परियोजना में जो काम अब तक हुए हैं, उसका सीधे तौर पर जनता को फायदा मिलता नहीं दिखाई दे रहा है। कई काम तो बेवजह स्मार्ट सिटी के अधिकारियों ने जमीन पर उतारे और फिर खुद ही उनको हटा दिया। यही वजह रही कि 1000 करोड़ रुपए खर्च होने के बाद भी स्थिति जस की तस है। इतना पैसा खर्च होने के बाद भी न तो मुख्य बाजारों के इमारतों की सूरत बदली और न ही ड्रेनेज सिस्टम दुरुस्त हुआ।

जयपुर

Published: May 06, 2022 05:04:49 pm

जयपुर. राजधानी में स्मार्ट सिटी परियोजना का काम कछुआ गति से चल रहा है। स्थिति यह है कि छह साल 10 माह बीत जाने के बाद सिर्फ 40 फीसदी ही काम हो पाया है। अब अधिकारियों को अगले 14 महीने में 60 फीसदी काम पूरा करना होगा। क्योंकि शहरी मामलात मंत्रालय ने जून, 2023 तक सभी 100 स्मार्ट सिटी का काम पूरा करने की बात कही है। साथ ही उन 40 शहरों पर मंत्रालय फोकस करेगा, जो सबसे पीछे चल रहे हैं। शहर में अभी 75 काम चल रहे हैं। इसमें से अधिकतर काम देरी से चल रहे हैं।
Jaipur Smart City...छह साल 10 महीने में 40 फीसदी काम, अब 14 माह में 60% काम बना चुनौती
Jaipur Smart City...छह साल 10 महीने में 40 फीसदी काम, अब 14 माह में 60% काम बना चुनौती
1000 करोड़ खर्च: स्थिति जस की तस...स्मार्ट सिटी परियोजना में जो काम अब तक हुए हैं, उसका सीधे तौर पर जनता को फायदा मिलता नहीं दिखाई दे रहा है। कई काम तो बेवजह स्मार्ट सिटी के अधिकारियों ने जमीन पर उतारे और फिर खुद ही उनको हटा दिया। यही वजह रही कि 1000 करोड़ रुपए खर्च होने के बाद भी स्थिति जस की तस है। इतना पैसा खर्च होने के बाद भी न तो मुख्य बाजारों के इमारतों की सूरत बदली और न ही ड्रेनेज सिस्टम दुरुस्त हुआ। बरसात के दिनों में कई जगह पानी भर जाने की शिकायतें आती हैं। जबकि, इन कामों में पानी की तरह पैसा बहाया गया। स्मार्ट टॉयलेट की स्थिति तो और भी खराब है। जलेब चौक में इनको रखे हुए दो साल हो गए, लेकिन अब तक चालू नहीं हो पाई हैं। जिनको चालू किया गया, वे रखरखाव के अभाव में विश्व विरासत पर धब्बा लगा रही हैं। लोगों को इसके बाहर ही लोगों को पेशाब करते हुए देखा जा सकता है।
पैसा भी खर्च, सूरत भी नहीं बदली...

फसाड वर्क : 44.94 करोड़ रुपए अब तक खर्च हो चुके हैं। लेकिन, मुख्य बाजारों के इमारतों की सूरत पहले जैसी ही दिखाई देती है।गंदी गलियों की सफाई : अब तक 6.72 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। जिन गलियों को साफ करने का दावा किया गया, वहां बुरा हाल है। अभी स्थिति यह है कि नियमित रूप से पार्षद गलियों को साफ करने की शिकायतें निगम में लेकर आते हैं।
स्मार्ट टॉयलेट : सात करोड़ रुपए खर्च हुए लेकिन इनका अब तक कोई उपयोग नजर नहीं आ रहा है। कहीं खराब हैं तो कहीं पानी की किल्लत है। ऐसे में इनके आस-पास गंदगी और रहती है।अंडरग्राउंड केबलिंग : 34 करोड़ रुपए का भारी-भरकम बजट खर्च किया गया। अभी भी कई बाजारों में बिजली के तार झूल रहे हैं। हाल ही, यूनेस्को की टीम के सदस्यों ने काम पर सवाल खड़े किए थे।
पहले आगे बढ़े, फिर पीछे खींचे कदम

1. स्मार्ट रोड : राजधानी के परकोटा क्षेत्र के नौ बाजारों में स्मार्ट रोड बनने की योजना बनी। किशनपोल और चांदपोल बाजार में काम पूरा भी हो गया। लेकिन, इसके बाद इस प्रोजेक्ट को वापस ले लिया गया। किशनपोल बाजार में बिना सोचे-समझे बरामदों से आगे फुटपाथ बना दिए। चांदपोल बाजार में इस गलती को सुधारा भी।
2. पौंडरीक पार्क में पार्किंग : राजनीतिक दबाव के चलते स्मार्ट सिटी ने भूमिगत पार्किंग का काम शुरू किया। क्षेत्रवासियों ने विरोध किया। बाद में मामला कोर्ट तक पहुंचा। फिलहाल पार्किंग का काम बंद है। कोर्ट के आदेश से पहले पार्क में कई पेड़ काटे जा चुके थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.