scriptJaipur unique initiative to get life partner | जयपुर में अनूठा परिचय सम्मेलन: 50 से 82 साल तक के लोग दिखे शादी की कतार में, चुना हमसफर | Patrika News

जयपुर में अनूठा परिचय सम्मेलन: 50 से 82 साल तक के लोग दिखे शादी की कतार में, चुना हमसफर

जीवन की प्रथम पारी को सुख-दुख के साथ जीने के बाद 50 साल पार के कुछ बुजुर्गों ने फिर से नई शुरुआत जीने का मन बनाया है।

जयपुर

Published: May 02, 2022 07:15:56 pm

हर्षित जैन/जयपुर. जीवन की प्रथम पारी को सुख-दुख के साथ जीने के बाद 50 साल पार के कुछ बुजुर्गों ने फिर से नई शुरुआत जीने का मन बनाया है। ये 50 साल के महिला-पुरुष बुजुर्ग है जिन्होंने अपना जीवन साथी को खो दिया है और अब फिर से जिंदगी की नई शुरुआत करने जा रहे हैं। रविवार को राजापार्क स्थित आर्यसमाज भवन परिसर में वरिष्ठ नागरिक जीवन साथी परिचय सम्मेलन अनुबंध फाउंडेशन, आर्य समाज जयपुर और सर्व मंगल सेवा समिति की ओर हुआ। सम्मेलन में यूपी, गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब और जयपुर के लोगों ने हिस्सा लिया, जिन्हें अपने सुख-दुख बांटने के लिए जीवनसाथी की तलाश थी।
Jaipur unique initiative to get life partner
खास बात यह रही कि सरकारी कर्मचारी, रिटायई कर्मचारी, व्यापारी, डॉक्टर्स, शिक्षाविदों ने हिस्सा लिया। इनमें 50 से लेकर 84 साल तक के बुजुर्ग एकाकी जीवन में खुशियां भरने के लिए यहां पहुंचे। एक बेटी अपने पिता को लेकर सम्मेलन में पहुंची। वहीं कई महिलाएं अपने भाई, देवर को भी लेकर पहुंची। इस दौरान 150 पुरुष और 20 महिलाओं ने परिचय दिया। राजस्थान के कार्टिनेटर अतुल कोटेचा ने बताया कि राजस्थान में पहली बार इस तरह का अनूठा सम्मेलन चर्चा का विषय रहा।
आर्य समाज के कार्यकारी अध्यक्ष और सर्व मंगल सेवा समिति अध्यक्ष रवि नैयर ने बताया कि दिनों कोरोना काल में अनहोनी घटनाएं हुई है जिनसे लोगों का सब्र टूट गया है। किसी को सहयोग की जरूरत हमेशा रहती है। बुजुर्ग लोग अपना दुख या विधवा महिलाएं अपनी परेशानी किसी को नहीं बताती। ऐसे में जीवन संगिनी की बजाय जीवन सहयोगिनी के लिए यह पहल की है। अब तक जयपुर बम धमाके में आठ बेटियों की शादी के अलावा सामूहिक शादियों के 12 से अधिक सम्मेलन नैयर करवा चुके हैं।
एक घंटे में चुना हमसफर
फाउंडेशन के प्रेसिडेंट नाथूभाई पटेल ने बताया कि देशभर में 67 सम्मेलन करके बुजुर्गों को नया जीवनसाथी तलाशने में संस्था सहयोग कर रही है। अब तक कुल 182 जोड़ी बन चुकी है। इसके लिए मुफ्त रहना खाना आदि की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। अहमदाबाद के गणपत भाई और मनीषा सोनी ने बताया कि दोनों के जीवनसाथी गुजरने के बाद अब उन्होंने बाकी का जीवन एक साथ गुजारने का फैसला किया है। गणपत भाई ने बताया कि पत्नी के गुजरने के बाद 15 साल तक अकेले जीवन जीना दूभर हो गया था। मेरा ट्रेवल्स का काम है। पत्नी की मौत के बाद गाड़ी को पत्नी समझकर उससे अपने सुख-दुख की बाते करके जीवन काट रहा था। महज एक घंटे में दोनों ने एक दूसरे को हमसफर के रूप में चुना।
सोनीपत से आए रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी 82 वर्षीय बीके श्रीवास्तव ने बताया कि 2014 में पत्नी की मृत्यु हो गई थी। इसके बाद से अकेला हो गया हूं, अब बेटे और पोती भी बूढ़ापे में सहारा नहीं बन सके। इसलिए कुछ समय किसी के साथ की जरूरत थी। जानकारी पता कर जीवन सहयोगिनी ढूंढने के लिए यहां आया हूं।
30 साल बच्चों की परवरिश
प्रतापनगर निवासी 67 वर्षीय गोपाल लाल ने कहा कि उम्र के इस दौर में कहीं ना कहीं जीवनसाथी की कमी जरूर खल रही है। बीते सालों में पत्नी की जान जा चुकी थी। इसके बाद 30 साल तक मेरे बच्चों और घर को केयर टेकर के रूप में मीना ने संभाला। समाचार पत्र में पढ़कर यहां हूं। लेकिन मेरी इस खुशी में एक बेटे ने भी साथ नहीं दिया। कई परेशानियों के बावजूद अब दूसरी पारी शुरू करने का मन बनाया। मेरा और मीना का रिश्ता यहां तय हो गया है। मीना ने कहा कि शुरू से मैंने घर को अपने घर की जैसे संभाला। गोपाल का सरल सहज स्वभाव आज फिर से वैवाहिक बंधन में बंधने के लिए मन बनाया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारकांग्रेस के चिंतन शिविर को प्रशांत किशोर ने बताया फेल, कहा- कुछ हासिल नहीं होगाउड़ान भरते ही बीच हवा में बंद हो गया Air India प्लेन का इंजन, पायलट को करानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंगकोहली नहीं सहवाग की नज़र में ये है असल कप्तान, बोले – जो टीम बनाता है वह होता है नंबर 1आम लोग तो छोड़िए साहब... Anand Mahindra को भी है अपनी XUV700 की डिलीवरी का इंतज़ार! बताई ये वजहBJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.