Exclusive खुलासा : झालाना बाईपास पर हुई कहासुनी, ईदगाह तक पहुंचा बवाल, जहां हुई पथराव और आगजनी

Exclusive खुलासा : झालाना बाईपास पर हुई कहासुनी, ईदगाह तक पहुंचा बवाल, जहां हुई पथराव और आगजनी

Pushpendra Singh Shekhawat | Updated: 13 Aug 2019, 07:37:21 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

फ्लैगमार्च कर पुलिस ने संवेदनशील इलाके का किया निरीक्षण, ड्रोन से भी रखी गई निगाह, ईदगाह बना पुलिस छावनी, हालात पूरी तहर नियंत्रण में, अफवाहों ने बिगाड़ा माहौल, पांच गिरफ्तार, अन्य उपद्रवियों को पुलिस कर रही है चिन्हित

धीरेन्द्र भट्टाचार्य / जयपुर। गलतागेट इलाके में सोमवार रात हुए उपद्रव और तोडफ़ोड़ के मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि अन्य अरोपियों को भी चिन्हित कर गिरफ्तार करने की कार्रवाई जारी है। इस बीच गलता गेट इलाके में मंगलवार को हालात पूरी तहर से नियंत्रण में रहा, हालांकि रात की घटना का खौफ लोगों के चहरे पर साफ नजर आ रहा था। ईदगाह इलाके के चप्पे-चप्पे पर सशस्त्र पुलिसकर्मियों सहित आरएसी के जवान भी तैनात किए गए हैं। इसके अलावा एडिशनल कमिश्नर, डीसीपी उत्तर सहित पुलिस के अधिकारी भी पूरे दिन इलाके में ही पड़ाव डाले रहे। शाम को पुलिस ने फ्लैग मार्च की संवेदनशील इलाके का निरीक्षण किया, वहीं पुलिस ने ड्रोन कैमरे के जरिए भी पूरे इलाके में नजर रखी।

 

यहां से हुई थी विवाद की शुरूआत
कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि सोमवार रात करीब 9 बजे गलता गेट थाना इलाके स्थित वन विहार कॉलोनी निवासी रमीज और फैजल मोटर साइकिल से गौरव टॉवर से घर की तरफ आ रहे थे। झालाना बाईपास के पास उनका स्थानीय युवकों से बाइक चलाने के मामले को लेकर झगड़ा हो गया। इस पर रमीज और फैजल ने अपनी कॉलोनी में आकर लोगों को झगड़े की जानकारी दी, जिस पर ईदगाह के सामने भीड़ जुट गई और भीड़ ने उपद्रव फैला दिया।

 

फ्लैग मार्च कर लिया जायजा

हालात का जायजा लेने के लिए पुलिस, आरएसी की दो कंपनियां और कमिश्नरेट की एसटीएफ के कमांडो ने शाम करीब 6 बजे गलतागेट थाने से फ्लैग मार्च शुरू किया, जो ईदगाह, लक्ष्मण डूंगरी, लाल डूंगरी, आमागढ़ और वन विहार से होते हुए वापस गलतागेट क्षेत्र में पहुंचा। इस दौरान पुलिस ने ड्रोन कैमरे से तमाम इलाके के घरों की वीडियोग्राफी भी करवाई।

 

थानाधिकारी ने करवाया मामला दर्ज
सोमवार रात हुए उपद्रव के मामले में गलतागेट थानाधिकारी यशवंत सिंह ने सरकारी संपत्ती की तोड़-फोड़, राजकार्य में बाधा डालना, पुलिसकर्मियों पर हमला करना और राष्ट्रीय राजमार्ग अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करवाया है। उपद्रवियों ने पथराव से पांच पुलिसकर्मियों सहित 15 लोग घायल हो गए थे। दस वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था।

 

डोर-टू-डोर सर्वे
कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि उपद्रवी फैलाने और पत्थरबाजी के उकसाने वालों को चिन्हित करने के लिए बुधवार से गलतागेट इलाके में पुलिस डोर-टू-डोर सर्वे करेगी। इस दौरान घरों में अवांच्छित सामग्री का निरीक्षण भी किया जाएगा। सर्वे के दौरान उपद्रवी और षडय़ंत्र रचने वालों को चिन्हित कर गिरफ्तारी का अभियान चलाया जाएगा।

 

पांच गिरफ्तार
सोमवार रात उपद्रव के मामले में गलतागेट थाना पुलिस ने वनविहार निवासी लियाकत, बाबूदीन, शौकत, नाईकीथड़ी निवासी रशीद मंसूरी और पाडा मंडी निवासी फारूक को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ कर अन्य उपद्रवियों की जानकारी जुटाई जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned