माचेड़ा व अनोखा गांव में विश्वकर्मा पंप हाउस से पहुंचाएंगे पानी

शहर के बाहरी क्षेत्रों में बीसलपुर (Bisalpur water) से अनकनेक्ट कॉलोनियों (Unconnected Colony) में भी पानी पहुंचाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। माचेड़ा और अनोखा गांव की 60 से ज्यादा कॉलोनियां की एक लाख से ज्यादा आबादी को बीसलपुर सिस्टम से जोड़ा जाएगा। इसके लिए जलदाय विभाग (Water supply department) विश्वकर्मा पंप हाउस से लाइन बिछा कर माचेड़ा व अनोखा गांव की कॉलोनियों में पानी पहुंचाएगा।

By: Girraj Sharma

Updated: 23 Feb 2021, 10:17 PM IST

माचेड़ा व अनोखा गांव में विश्वकर्मा पंप हाउस से पहुंचाएंगे पानी
— 60 से ज्यादा कॉलोनियों में पहुंचेगा बीसलपुर का पानी
— जलदाय विभाग ने शुरू की तैयारियां

जयपुर। शहर के बाहरी क्षेत्रों में बीसलपुर (Bisalpur water) से अनकनेक्ट कॉलोनियों (Unconnected Colony) में भी पानी पहुंचाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। माचेड़ा और अनोखा गांव की 60 से ज्यादा कॉलोनियां की एक लाख से ज्यादा आबादी को बीसलपुर सिस्टम से जोड़ा जाएगा। इसके लिए जलदाय विभाग (Water supply department) विश्वकर्मा पंप हाउस से लाइन बिछा कर माचेड़ा व अनोखा गांव की कॉलोनियों में पानी पहुंचाएगा।

अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल ने सबसे ज्यादा पेयजल संकट से जूझ रहे माचेड़ा और अनोखा गांव में पेयजल समस्या के समाधान के लिए अधीक्षण अभियंता उत्तर और स्पेशल प्रोजेक्ट के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें सामने आया कि माचेड़ा और अनोखा गांव की कॉलोनियां कई वर्षों से पेयजल संकट से जूझ रही हैं। यहां अभी प्रतिदिन टैंकरों की 200 से ज्यादा ट्रिप से पेयजल सप्लाई की जा रही है। अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल ने बताया कि अभी लोहामंडी तक बीसलपुर की पेयजल लाइन बिछेगी, लेकिन यह प्रोजेक्ट 2022 तक पूरा होगा। इससे पहले लोगों को राहत देने के लिए विश्वकर्मा पंप हाउस से पेयजल लाइन बिछाई जाएगी और लोहामंडी क्षेत्र में जलदाय विभाग की ओर से चिन्हित जमीन पर उच्च जलाशय और स्वच्छ जलाशय बनाए जाएंगे। 10 करोड रुपए की लागत वाले इस प्रोजेक्ट को दस माह में पूरा किया जाएगा।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned