जयपुर की नाहरगढ़ पहाडियों में पहुंचा बंगाल टाइगर, दहाड़ सुनकर हर कोर्इ् ठिठका

बाल दिवस पर कई स्कूलों के बच्चों ने पहुंचकर देखा

By: Ashwani Kumar

Published: 14 Nov 2017, 04:06 PM IST

जयपुर। नाहरगढ़ फोर्ट में मंगलवार की सुबह खास थी। यहां पर टाइगर गुर्रा रहा था। उसकी दहाड़ सुनकर यहां से गुजरने वाले हर किसी के पैर एक बार ठिठकने लगे। फोर्ट के वैक्स म्यूजियम परिसर में लगाए गए रोबोट टाइगर बच्चों को पहले दिन खूब पसंद आया। बाल दिवस के मौके पर कई स्कूलों के बच्चे इसको देखने पहुंचे। इस खास बंगाल टाइगर कोलकाता में बनकर तैयार हुआ है। इसको टाइगर के रीयल साइज में बनाया गया है। इस रोबोट टाइगर को 'भारत' नाम दिया गया है। भारत दस साल तक जयपुर जू में रहा था और 22 साल की उम्र में 2012 में 22 साल की उम्र में उसकी मौत हो गई थी। म्यूजियम के फाउंडर अनूप श्रीवास्तव ने बताया कि वैक्स म्यूजियम में दर्शकों को कुछ अलग दिखाने की चाहत हमारी टीम को कुछ अलग करने के लिए प्रेरित करती है।

 

अभी बाहर ही किया गया है डिस्प्ले

भारत रोबोट टाइगर की स्थापना म्यूजियम में आए दर्शकों और बच्चों की उपस्थिति में की गई। फिलहाल भारत के लिए म्यूजियम के बाहर जंगल का सैट तैयार कर लगाया गया है। कुछ दिन बाद इसको म्यूजियम के अंदर सवाई माधो सिंह द्वितीय के वैक्स स्टैच्यू के पास रखा जाएगा।

 

ऐसा लगता कि रोबोट नहीं टाइगर ही है
सुबह देखने आए बच्चों ने बातचीत के दौरान कहा कि ऐसा लगता ही नहीं कि ये रोबोट है। इसकी गुर्राहट से लेकर इसका साइज देखकर हूबहू लगता है। दर्शकों में रोमांच पैदा हो, इसके लिए विशेषज्ञों ने हर चीज का ध्यान रखा है। जब भी कोई दर्शक इसके पास जाता है तो यह गुर्राता है। वहीं इसकी आंख भी हरकत करती है। इसको बनाने में चार माह लगे हैं।

 

अगले महीने आ जाएंगे माही

वैक्स म्यूजियम में अभी 32 वैक्स स्टैच्यू हैं। अगले महीने भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की वैक्स स्टैच्यू भी आ जाएगी। म्यूजियम प्रशासन की मानें इस स्टैच्यू के अनावरण के लिए खुद माही को लाने का प्रयास किया जा रहा है।

Ashwani Kumar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned