राजस्थान में जन आधार को लेकर केन्द्र ने किया ये बड़ा फैसला—पहचान के दस्तावेज के तौर पर मान्य

14 लाख जन आधार कार्ड पहुंचे लोगों के पास

By: PUNEET SHARMA

Published: 16 May 2020, 06:27 PM IST


जयपुर।
प्रदेश में 1 अप्रेल से भामाशाह कार्ड की जगह अब जन आधार कार्ड लागू हो गया है। जन आधार कार्ड को केन्द्रीय आधार प्राधिकरण ने पहचान,पता और परिवार से संबध स्थापित करने वाले दस्तावेज के तौर पर मान्यता दे दी है। प्रदेश में अभी तक 14 लाख जन आधार कार्ड राष्ट्रीय खादय सुरक्षा योजना में चयनित परिवारों तक पहुंचा दिए गए हैं।
आयोजना विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जन आधार कार्ड को आधार कार्ड की तरह पहचान और पते के लिए दस्तावेज के तौर पर नहीं माना जा रहा था। जिससे लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इस पर राज्य सरकार ने आधार प्राधिकरण से जन आधार कार्ड को भी पहचान और पते के लिए अधिकृत दस्तावेज घोषित करने के लिए पत्र लिखा था।
जानकारी के अनुसार प्रदेश में राष्ट्रीय खादय सुरक्षा योजना में चयनित 1 करोड़ 3 लाख जन आधार कार्ड निशुल्क वितरण होना है। अभी तक 14 लाख से ज्यादा चयनित परिवारों के मुखियाओं के पास जन आधार कार्ड पहुंच चुके हैं। वहीं भामाशाह कार्ड में दर्ज परिवारों के डाटा को जन आधार कार्ड में ट्रांसफर करने का कार्य किया जा रहा है।

PUNEET SHARMA Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned