राजस्थान में जन अनुशासन पखवाड़े का पहला दिन..... कुछ इस तरह से हुई शुरुआत

दो दिन के वीकेंड लाॅकडाउन के बाद आज जन अनुशासन पखवाड़े का पहला दिन कुछ इस तरह से शुरु हुआ.....।

By: JAYANT SHARMA

Published: 19 Apr 2021, 11:32 AM IST

जयपुर
रविवार को कई घंटों चली मैराथन बैठकों के बाद आखिर #Rajasthan-Government सरकार ने बीच का रास्ता निकाल ही लिया। लाॅकडाउन #Lockdown और कर्फ्यू से #Curfew हटकर सरकार ने गेंद जनता के पाले में उछाल दी। पंद्रह दिन सख्त अनुशासन बरतने को कहा गया और इस बीच किसी भी तरह की गाइड लाइन तोड़ने पर जुर्माने की राशि भी नहीं बढ़ाई गई। सख्त लाॅकडाउन की पालना कराने को नाम दिया गया है #Jan-Anushan-Pakhvada जन अनुशासन...। लेकिन इसके पहले ही दिन भयंकर असमंजस के हालात बन गए हैं। बाजारों में भीड़ का माहौल है और अधिकर प्वाइंट्स से पुलिस नदारद है। लोग एक दूसरे से पूछताछ कर ही असमंजस को जैसे-तैसे दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। दो दिन के वीकेंड लाॅकडाउन के बाद आज जन अनुशासन पखवाड़े का पहला दिन कुछ इस तरह से शुरु हुआ.....।

चारदीवारी क्षेत्र में हालात सबसे ज्यादा खराब
अनुशासन पखवाड़े के पहले दिन #Wall-city-jaipur चारदीवारी के हालात सबसे ज्यादा खराब दिखे। संजय सर्किल क्षेत्र से लेकर #Jaipur-Market घाटगेट, सूरजपोल क्षेत्र के बाजारों तक ई रिक्शा, आॅटो और बसों ने सड़कें घेर लीं। बाजारों में निजी वाहनों और दुपहिया वाहनों की भी भीड़ दिखीं। हांलाकि सवेरे-सवेरे अधिकतर दुकानें बंद रहीं। लेकिन हलवाई, टी स्टाॅल समेत अन्य कई दुकानें खुलने से उनके बाहर भीड़ बढ़ गई। इस दौरान न तो किसी चैपड़ पर और न ही किसी प्वाइंट पर पुलिस का कोई बंदोबस्त ही दिखा।

शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में कुछ इस तरह दिखे हालात
चारदीवारी के साथ ही शहर के अलग-अलग बाजारों में भी हालात खराब ही मिले। सवेरे-सवेरे मानसरोवर क्षेत्र में लोग बेवजह सड़कों पर दिखे। कहीं वाॅक पर निकले तो कहीं अन्य सामान लेने। मालवीय नगर और जगतपुरा क्षेत्र में भी निजी वाहनों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट की भीड़ दिखी। उधर आगरा रोड और दिल्ली रोड पर भी अधिकतर निजी बसें सवारियों को लेकर जाती दिखीें। शहर के बाहर कुछ जगहों पर तो मार्केंट तक खुले दिखे। सीकर रोड, वैशाली नगर, विश्वकर्मा क्षेत्र में भी हालात न तो लाॅकडाउन के लगे और न ही कर्फ्यू ही दिखा।

प्रदेश के अधिकतर जिलों में ऐसी हुई जन अनुशासन पखवाड़े की सुबह
राजधानी के अलावा प्रदेश के कई शहरों में भी लाॅकडाउन के बाद आज सवेरे हालात सरकार के अनुकूल नहीं मिले। निजी और पब्लिक ट्रांसपोर्ट के वाहन तो अधिकतर शहरों में सवेरे से ही शुरु हो गए। सवेरे-सवेरे नियमों का पालन कराने के लिए अधिकतर शहरों में पुलिस प्वाइंटस पर तैनात नहीं मिली।

अब क्या कर सकती है सरकार....
उधर कर्फ्यू, वीकेंड लाॅकडाउन और अब अनुसासन पखवाड़े को शुरु करने वाले सरकार अपने अफसरों के जरिए इस पूरे घटनाक्रम पर नजर रख रही है। रविवार को आठ से दस घंटों तक चली बैठकों में सरकार चलाने वाले एक बड़े धड़े ने संपूर्ण लाॅकडाउन और कर्फ्यू की मांग की थी। लेकिन सरकार ने रोजगार को ध्यान में रखते हुए ऐसा नहीं किया। बताया जा रहा है कि तीन से चार दिन तक इस पूरी प्रक्रिया पर नजर रखी जाएगी। उसके बाद भी अगर संक्रमितों की संख्या कम नहीं होती है तो प्रदेश अनुशासन पखवाड़े को संपूर्ण लाॅकडाउन में भी बदला जा सकता है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned