अब जाट समाज ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा- ओबीसी में वर्गीकरण बर्दाश्त नहीं, भाई चारा बिगाड़ रही सरकार!

जाट समाज की भावना हमेशा ही गुर्जर समाज के साथ रही है, लेकिन सरकार दोनों को भिड़ाना चाहती है...

By: dinesh

Published: 15 May 2018, 04:56 PM IST

जयपुर। गुर्जर समाज की ओबीसी का वर्गीकरण कर उसमें आरक्षण देने की मांग और फिर सरकार व गुर्जर समाज के प्रतिनिधिमंडल के बीच वार्ता के बाद अब जाट समाज के लोग नाराज हो गए हैं। जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेम सिंह फौजदार ने मंगलवार को भरतपुर में प्रेसवार्ता की। जिसमें उन्होंने कहा, गुर्जर समाज को सरकार 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ दे। यह गुर्जर समाज का हक है, लेकिन ओबीसी कोटे में से वर्गीकरण कर आरक्षण दिया गया तो जाट समाज इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करेगा। जाट समाज सरकार के इस कदम का खुलकर विरोध करेगा।

भरतपुर में गुर्जर समाज की ओर से आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन पर फौजदार ने कहा कि, सरकार भाई चारा बिगाडऩा चाहती है और आपस में लड़ाना चाहती है लेकिन जाट समाज ऐसा बिल्कुल भी नहीं होने देगा। उन्होंने कहा कि, जाट समाज की भावना हमेशा ही गुर्जर समाज के साथ रही है, लेकिन सरकार दोनों को भिड़ाना चाहती है।


उल्लेखनीय है कि गुर्जर समाज के मंगलवार को महापंचायत के आह्वान से पहले सोमवार को सरकार और गुर्जर नेताओं की वार्ता बिना निर्णय खत्म हुई। वार्ता के बाद सरकार ने कहा कि गुर्जर नेता सरकार के हर निर्णय से सहमत हैं, लिखित समझौता मंगलवार को होगा। वहीं गुर्जर नेताओं ने कहा कि सरकार ने जो कहा है उस पर चर्चा अड्डा में होने वाली महपंचायत में होगी। इसके बाद ही आगे के निर्णय पर विचार होगा।

यह कहा सरकार ने
मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि सभी मुद्दों पर एक राय बनी है। इनकों लेकर मंगलवार को लिखित समझौता होगा। वार्ता पूरी तरह सफल रही है।

यह कहा गुर्जर नेताओं ने
गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के हिम्मत सिंह ने कहा कि वार्ता सफल या असफल का निर्णय अभी नहीं हुआ है। सरकार ने जो आश्वासन दिए हैं, उनपर मंगलवार को महापंचायत में चर्चा होगी। इसके बाद ही तय होगा कि आगे क्या करना है। समझौता करना है या आंदोलन।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned