प्रवर्तन शाखा कार्रवाई करने पहुंची, जोन में चल रही मामले की जांच

 

—जेडीए की दो बीघा जमीन पर हो गया कब्जा,
—कुछ भूखंड ऐसे जिन पर बन गए मकान, इनका फैसला सरकार स्तर पर होगा।

By: Ashwani Kumar

Updated: 04 Oct 2021, 07:16 PM IST


जयपुर। दो वर्ष पहले की गई शिकायत पर कार्रवाई करने पहुंची प्रवर्तन शाखा की टीम पर जेडीए के जोन कार्यालय ने ही ब्रेक लगा दिए। कुछ भूखंडों की जांच जोन कार्यालय में प्रक्रियाधीन है। जो लोग शिकायत कर रहे हैं, उनका कहना है कि यह भूमाफियाओं को बचाने का प्रयास है।
ऐसे में कुछ अवैध निर्माणों पर कार्रवाई नहीं हो सकी। मामला पृथ्वीराज नगर दक्षिण के ग्राम बदरवास, गोपालपुरा का है। यहां पर वद्र्धमान नगर से लगती हुई जेडीए स्वामित्व की बेसकीमती 900 वर्गगज जमीन का है।
जोन कार्यालय की रिपोर्ट पर गौर करें तो उसमें साफ लिखा है कि खसरा संख्या—57 का आधा हिस्सा सड़क निर्माण में आ चुका है। शेष भाग पर पक्के निर्माण और कुछ भूखंडों पर बाउंड्री भी हैं। निर्माण अनुमोदित नहीं है और अवैध है। इसे कब्जे में लिया जाना उचित होगा। सोमवार को प्रवर्तन शाखा के यहां कुछ अवैध निर्माण ध्वस्त कर दिए। 200 फुट बाइपास पर कार्रवाई के दौरान कब्जा, अतिक्रमण और चारदीवारी को ध्वस्त किया गया। कुछ भूखंडों में लैट बाथ तक बना लिए गए थे। कार्रवाई के दौरान इन सभी को ध्वस्त कर दिया गया।

वर्जन———
यह जेडीए स्वामित्व की बेशकीमती जमीन थी। इसको अतिक्रमण से मुक्त करवाया है। कुछ निर्माण पुराने हैं और उनमें परिवार भी रह रहे हैं। इन भूखंडों के संबंध में राज्य सरकार नीतिगत निर्णय करेगी। कुछ भूखंड शेष रह गए हैं, उन पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी।
—रघुवीर सैनी, मुख्य नियंत्रक, प्रवर्तन शाखा

पांच मंजिला इमारत की सील
इधर, खिरणी फाटक के पास लॉयन्स लेन कॉलोनी के भूखण्ड संख्या-113 में में बनी पांच मंजिला इमारत को सील कर दिया। करीब 400 वर्गगज में सेटबैक व बिल्डिग बॉयलॉज का उल्लंघन कर बिल्डिंग का निर्माण किया गया था। इसमें आठ फ्लैट भी बना लिए थे। कार्रवाई के दौरान प्रवेश और निकास द्वारों पर ईंटों की दीवार खड़ी कर दी।

Ashwani Kumar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned