16 दिन में सिर्फ 2350 पट्टे के आवेदन आए, 240 पर ही लगी मुहर


बेरुखी: अभियान के पहले दिन का भी लक्ष्य पूरा करने में अधिकारियों के आ रहे पसीने

 

—निगम का और बुरा हाल, दोनों में मिलाकर 2000 आवेदन भी नहीं आए

By: Ashwani Kumar

Published: 24 Sep 2021, 07:46 AM IST

अश्विनी भदौरिया
जयपुर। प्रशासन शहरों के संग अभियान को राजधानी में गति नहीं मिल पा रही है। स्थिति यह है कि पहले दिन का लक्ष्य अब तक पूरा नहीं हो पाया है, जबकि अभियान शुरू होने में अब नौ दिन का ही समय बचा है। बात जेडीए की करें तो सर्वाधिक पट्टे देने की जिम्मेदारी प्रदेश भर में जेडीए के पास ही है। जेडीए को एक लाख पट्टे देने हैं। लेकिन अब तक सिर्फ 2350 लोगों ने ही पट्टों के लिए आवेदन किया है। इनमें से 240 प्रकरणों का ही निस्तारण किया गया है। लगातार बैठकों में लक्ष्य पूरा करने के लिए निर्देश दिए जा रहे हैं, लेकिन पहले दिन का लक्ष्य पूरा होता नहीं दिखाई दे रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुए अब जेडीए के अधिकारियों ने विकास समितियों के पदाधिकारियों सम्पर्क करना शुरू किया है। साथ ही जेडीए अब सुविधाओं में भी इजाफा करने जा रहा है।
वहीं, राजधानी की दोनों शहरी सरकारों की स्थिति और खराब है। अब तक की तैयारियों को देखें तो 2000 पट्टे जारी करने का ही रास्ता साफ हो पाया है। हैरिटेज नगर निगम में तो खुद सरकार 15 हजार पट्टे केवल परकोटा क्षेत्र में देने की तैयारी कर कर रही हैं, लेकिन निगम प्रशासन की तैयारियां उस हिसाब से दिखाई नहीं दे रही हैं।


ये है पहले दिन का लक्ष्य
—10 हजार पट्टे जारी करने का लक्ष्य जेडीए को मिला है
—2500—2500 पट्टे जारी करने का लक्ष्य दोनों निगमों को दिया है

जहां उम्मीद, वहां अब तक नाउम्मीद
जोन—— — आवेदन आए—— जिम्मेदार अधिकारी
पीआरएन उत्तर, प्रथम — 208 —रामरतन शर्मा
पीआरएन उत्तर, द्वितीय —176 —मुकेश कुमार मीणा
पीआरएन—दक्षिण, प्रथम — 116 —अंजू वर्मा
पीआरएन—दक्षिण, द्वितीय — 185 —मान सिंह मीणा
—जब नगरीय विकास विभाग के सलाहकार ने जेडीए में आकर बैठक ली थी, उस समय इन्हीं से एक दो उपायुक्त ने अकेले ही दस हजार पट्टे जारी करने की बात कही थी।
—ये हाल तब है जब जेडीए ने पीआरएन की अनुमोदित कॉलोनियों में 15 हजार भूखंडधारियों को पट्टे दिए जाने शेष हैं।

जहां पूर्व में शिविर लग चुके, वहां भी नहीं हो रहे आवेदन
जोन पट्टे शेष
पीआरएन उत्तर, प्रथम — 4516
पीआरएन उत्तर, द्वितीय — 3430
पीआरएन—दक्षिण, प्रथम — 2831
पीआरएन— दक्षिण, द्वितीय —3430


ये थोड़े ठीक
जोन —आवेदन आए—— जिम्मेदार अधिकारी
11 — 328 —प्रवीण अग्रवाल
12 — 238 —नरेश तंवर
14 — 317 —ओम थानवी

संख्या बढ़ाने के लिए ये तैयारी
—जेडीए परिसर में आठ नए ई मित्र सेवा केंद्र खोले जाएंगे। आवेदक से 50 रुपए शुल्क लेकर आवेदन कराया जाएगा।
—नागरिक सेवा केंद्र शनिवार और रविवार को भी खुला रहेगा। यहां दस्तावेज का सत्यापन करवा सकेंगे।
—जल्द ही हेल्प डेस्क की शुरुआत की जाएगी। यहां पर समस्याओं के निस्तारण के लिए सलाहकार मौजूद रहेंगे।

Ashwani Kumar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned