पट्टे बांटने से जेडीए को मिलेंगे 700 करोड़, सीवरेज सिस्टम पर होंगे खर्च

-10 लाख की आबादी आने वाले वर्षों में जुड़ेगी सीवरेज सिस्टम से

 


-पीआरएन दक्षिण से जल्द शुरू होगा काम, 14 करोड़ का वर्क आर्डर जारी
-उत्तर में एसटीपी के लिए जगह न मिलने से काम मे हो रही देरी

By: Ashwani Kumar

Updated: 13 Sep 2021, 11:20 AM IST


जयपुर। प्रशासन शहरों के संग अभियान के साथ ही पृथ्वीराज नगर क्षेत्र की कॉलोनियों में विकास कार्य गति पकड़ेंगे। मौजूदा स्थिति की बात करें तो सड़कों के जरूर काम हुए हैं, लेकिन पाीनी निकासी से लेकर अन्य मूलभूत सुविधाओं की कमी से करीब 10 लाख लोग जूझ रहे हैं।
पिछले एक वर्ष की बात करें तो बीसलपुर के पानी को पहुंचाने का काम चल रहा है। इसके अलावा सीवरेज सिस्टम का काम भी जल्द शुरू होगा।
दरअसल, राजधानी के इस क्षेत्र में सुविधाओं की कमी है। प्रशासन शहरों के संग अभियान में यहां से जेडीए को 500 करोड़ रुपए से अधिक मिलने का अनुमान है। इस पैसे का उपयोग जेडीए यहां पर सीवरेज बिछाने में करेगा। फेज—1 का कार्यादेश भी जेडीए ने जारी कर दिया है। पृथ्वीराज नगर दक्षिण की कॉलोनियों को जल्द ही सीवरेज से जोड़ने का काम शुरू होगा। 14 करोड़ रुपए के काम होंगे। यह चरण जनवरी, 2023 तक पूरा होगा।

ऐसे आएगा जेडीए के पास पैसा
—40 हजार पट्टे जेडीए की ओर से जारी किए जाएंगे। इसकी तैयारी भी चल रही है। फॉलोअप कैम्प में लोगों की समस्याओं को दूर कर पट्टे दिए जाएंगे।
—500 करोड़ रुपए जेडीए को इन पट्टों के जरिए मिलेंगे।
—1400 करोड़ रुपए अब तक जेडीए को मिले हैं पृथ्वीराज नगर के नियमन शिविरों से


खर्च का यह है तरीका
—721 करोड़ रुपए खर्च होंगे पीआरएन में सीवरेज सिस्टम को विकसित करने में
—766 कॉलोनियों में 500 किमी से अधिक सहायक और 50 किमी से अधिक मुख्य सीवरेज लाइन बिछेगी।
—10 लाख से अधिक की आबादी होगी लाभान्वित पीआरएन उत्तर और दक्षिण में

वर्जन
पृथ्वीराज नगर में विकास कार्य जेडीए की प्राथमिकता में हैं। सेक्टर रोड का काम भी चल रहा है। सीवरेज का काम भी जल्द शुरू होगा। वहां के लोग अधिक से अधिक पट्टे ले सकें, इसके लिए फॉलोअप शिविर भी शुरू किए गए हैं। उसका अच्छा रेस्पॉन्स आ रहा है।
—गौरव गोयल, जेडीसी

Ashwani Kumar Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned