Jee Mains : मैथ्स टफ, फिजिक्स कैमेस्ट्री आसान

सोशल डिस्टेंस के साथ परीक्षा
पांच परीक्षा केंद्रों पर हुआ आयोजन
परीक्षा इंतजाम से अभिभावकों को राहत

By: Rakhi Hajela

Updated: 02 Sep 2020, 03:22 PM IST


इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन्स की शुरुआत हो चुकी है। बुधवार को जयपुर के पांच परीक्षा केंद्रों पर इस परीक्षा का आयोजन किया गया। एक सितंबर यानी कल बीआर्क एवं बी प्लानिंग का एग्जाम हुआ था। जबकि बुधवार से 2 से 6 सितंबर को बीई बीटेक परीक्षा की शुरुआत हुई। राजस्थान के 33 में से केवल 9 जिलों में ही जेईई मेन्स के 19 सेंटर बनाए गए हैं। परीक्षा देकर निकले परीक्षार्थियों का कहना था कि गणित का पेपर काफी टफ आया था लेकिन फिजिक्स और कैमेस्ट्री बेहद आसान थे। परीक्षार्थी परीक्षा के इंतजामों को लेकर भी काफी संतुष्ट नजर आए।

राजधानी जयपुर में परीक्षा केंद्रों पर कोविड 19 को ध्यान में रखते हुए परीक्षार्थियों के लिए व्यवस्थाएं की गई। यहां पर हाथ सेनेटाइज करने के लिए मशीनें लगाई। कॉलेज के मुख्यद्वार पर सोशल डिस्टेंस को ध्यान रखवाने के लिए सर्किल बनाए गए ,जिससे परीक्षार्थी 6 फीट की दूरी के नियमों की पालना कर सकें। यहा हाथ सेनेटाइज करवाने के साथ ही उनके एडमिट कार्ड चैक किए गए। इसके बाद अंदर प्रवेश दिया गया। मुख्यद्वार के पास ही परीक्षार्थियों के लिए मास्क की व्यवस्था की गई थी, जहां उन्हें नए मास्क दिए गए। परीक्षा कक्ष यानी कम्प्यूटर लैब से प्रवेश करने से पूर्व उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई साथ ही उन्हें सेनेटाइजेशन टनल से गुजरा गया। जिससे संक्रमण का कोई खतरा नहीं रहे। साथ ही एक बड़ा नोटिसबोर्ड यहां लगाया गया है जिसमें परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को कोविड 19 से संबंधित निर्देश दिए गए।
अभिभावक हुए संतुष्ट
एग्जाम सेंटर के बाहर परीक्षा देने आए छात्रों के परिवार के लोग कोरोना पर चर्चा करते भी दिखे। परीक्षा होने से अभिभावक काफी संतुष्ट नजर आए। उनका कहना था कि परीक्षा निर्धारित तिथि पर होना जरूरी था यदि एेसा नहीं होता तो परीक्षार्थियों को पूरा साल बेकार हो जाता। वैसे में परीक्षा केंद्रों पर जो व्यवस्थाएं की गई है वह काफी हैं।

रोडवेज में निशुल्क यात्रा
मेन्स के लिए 24 जिलों के स्डूडेंट्स को दूसरे शहरों से सफर करना पड़ेगा। कई स्टूडेंट्स को एग्जाम देने के लिए 250 से 300 किमी दूर जाना पड़ेगा। सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि बसें और ट्रेनें सीमित संख्या में ही चल रही हैं। इसकी वजह से सेंटर पर पहुंचना भी अपने आप में एक चुनौती है। जिसे देखते ुए राजस्थान रोडवेज प्रशासन द्वारा निशुल्क बस यात्रा की व्यवस्था की गई है। जेईई परीक्षा का प्रवेश पत्र दिखाने पर परिचालक और बुकिंग केंद्र पर दिखाना अनिवार्य होगा। जिस पर परिक्षार्थियों के लिए 0 राशि का टिकट दिया जा रहा है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned