जीवन में फिर से उम्मीद के रंग भर रहा ‘जिंगल ड्रेस प्रोजेक्ट’

अमरीका के उटाह प्रांत में रहने वाला नवाजो परिवार प्रकृति के बीच पारंपरिक नृत्य के माध्यम से देशभर में कोरोना महामारी के चलते लोगों के जीवन में छाई निराशा, भय और डर को दूर करने का प्रयास कर रहा है। यह

By: Archana Kumawat

Published: 12 Jun 2021, 07:00 PM IST



अमरीका के उटाह प्रांत में रहने वाला नवाजो परिवार प्रकृति के बीच पारंपरिक नृत्य के माध्यम से देशभर में कोरोना महामारी के चलते लोगों के जीवन में छाई निराशा, भय और डर को दूर करने का प्रयास कर रहा है। यह परिवार है डिजाइनर, आर्टिस्ट और फोटोग्राफर यूजीन तपहे नवाजो का। तपहे कोरोना महामारी के चलते अपने प्रियजनों के खोने के बाद दुखी थे। एक दिन उन्होंने एक सपना देखा कि जिस क्षेत्र में वायरस से मरने वाले लोगों को दफनाया गया, वहां कुछ जिंगल्स ड्रेस डांसर्स नृत्य करने लगते हैं। यह सपना तपहे के लिए बहुत ही प्रेरणादायक था। वह समझ गए कि उन्हें इस सपने को साकार करने की कोशिश करनी होगी।
फिर शुरू हुआ ‘जिंगल ड्रेस प्रोजेक्ट’
अपने सपने को तपहे ने जिंगल ड्रेस प्रोजेक्ट का नाम दिया। जिसमें तपहे की बेटी डियोन तपहे और समुदाय की अन्य महिलाएं सोशल मीडिया के माध्यम से दुनियाभर में अपने टैलेंट को शेयर कर रही है। पारंपरिक नृत्य के माध्यम से लोगों को जागरुक और शिक्षित कर जीवन में प्रति सकारात्मकता बढ़ा रही हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत तपहे और उनका ग्रुप चार हजार किलोमीटर से भी ज्यादा की यात्रा कर चुका है।
पारंपरिक नृत्य है जिंगल ड्रेस
जो भी महिला जिंगल ड्रेस पहनकर नृत्य करती है वह देखभाल और उपचार करने का प्रतीक होती है। यह एक खास तरह की ड्रेस होती है, जिसमें कोन के आकार में मेटल लगे होते हैं।
पूर्वजों का आशीर्वाद
तपहे प्रकृति और साउथवेस्ट के लोगों के जीवन के रंगों को बड़ी खूबसूरती से कैमरे में कैद कर लेते हैं। तपहे कहते हैं कि उन्हें अपनी दादी, परिवार और संस्कृति से ही खूबसूरत फोटोग्राफी की प्रेरणा मिलती है। वह कहते हैं कि जब मैं फोटोग्राफी करता हूं तो ऐसा लगता है कि जैसे मेरे पूर्वज मेरे आसपास ही हैं और मुझे आशीर्वाद दे रहे हैं।

Archana Kumawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned