लोगों को झांसा देकर वारदात अंजाम देने वाला शातिर ​परिवार चढ़ा पुलिस के हत्थे

लोगों को झांसा देकर वारदात अंजाम देने वाला शातिर ​परिवार चढ़ा पुलिस के हत्थे
job fraud accused arrested in jaipur

abdul bari | Updated: 13 Oct 2019, 12:40:42 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

( jaipur crime news ) शिप्रापथ थाना पुलिस ने राजस्थान उच्च न्यायालय में क्लर्क, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और बैंक मैनेजर की नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले गिरोह को पकड़ ( job fraud accused arrested ) लिया है।

जयपुर
शिप्रापथ थाना पुलिस ने राजस्थान उच्च न्यायालय में क्लर्क, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और बैंक मैनेजर की नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले गिरोह को पकड़ ( job fraud accused arrested ) लिया है। इस शातिर गिरोह में पति-पत्नी और उनके दो बेटे शामिल हैं।

यह है पूरा मामला ( jaipur crime news )

शिप्रापथ थाना पुलिस ( jaipur police ) ने बताया कि मामले में आरोपी झज्झर हरियाणा निवासी रामनिवास उर्फ भगवानदास, उसकी पत्नी सुमन देवी और बेटे रवीन व अमन को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बताया कि रामनिवास करीब 20 साल पहले दिल्ली परिवहन विभाग में ड्राइवर की नौकरी करता था। लगातार गैर हाजिर होने की वजह से उसे बरखास्त कर दिया गया था।

कोर्ट में पहचान का झांसा ( job fraud )


आरोपी ने हाईकोर्ट में अच्छी पहचान होने का झांसा देकर बेरोजगारों से ठगी करना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे इसने पत्नी, बेटे और बेटियों को भी अपने गिरोह में शामिल कर लिया। आरोपी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और क्लर्क की नौकरी के नाम पर ( High Court Job Vacancy ) एडवांस में 2 से 5 लाख रुपए लेते थे। कई लोगों से बड़ी रकम हड़प कर आरोपी ठिकाना बदल मोबाइल बंद कर लेते थे।


यहां भी की ठगी

पुलिस ने बताया कि जादौन नगर दुर्गापुरा निवासी गिरधारीलाल मीणा ने शिप्रापथ थाने में रिपोर्ट दी थी। गिरधारी का आरोप था कि उसके पड़ोस में किराए पर रहने वाले रामनिवास ने कोर्ट में उसे, रिश्तेदारों और परिचितों को नौकरी लगवाने का झांसा दिया। सभी से 35 लाख रुपए और साझेदारी में जिम खोलने की एवज में 15 लाख रुपए ले लिए। रुपए लेने के बाद आरोपी फरार हो गए।


उत्तरांचल में होने की सूचना

टीम को आरोपी रामनिवास के परिवार के साथ हरिद्वार उत्तरांचल में होने की भनक लगी। सूचना के आधार पर टीम ने दबिश देकर रामनिवास, सुमन और उनके दोनों बेटों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी रामनिवास परिवार के साथ किराए के मकान में फर्जी बैंक मैनेजर बनकर रह रहा था। आरोपियों के खिलाफ शिप्रापथ और मुहाना थाने में पांच ठगी के मुकदमे दर्ज है।

यह खबरें भी पढ़ें...

जांच के निर्देश के बाद सरकारी दफ्तर में लगी आग, सबूत हुए खाक, षड़यंत्र का अंदेशा


बजरी खनन को लेकर जनप्रतिनिधि नाराज, बोले- प्रति डम्पर हो रही है एक-एक हजार की अवैध वसूली

खाद्य सुरक्षा सूची में नाम जुड़वाना है तो हो जाएं तैयार, 16 अक्टूबर से लगेंगे शिविर

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned