कोरोना काल में आवासन मंडल का काम देश के संस्थानों के लिए केस स्टडी समान

आवासन मंडल और इंडियन बिल्डिंग कांग्रेस की संयुक्त वर्कशॉप
भवन निर्माण और नगर नियोजन के दिए टिप्स

By: Amit Pareek

Published: 28 Feb 2021, 02:07 PM IST

जयपुर. इंडियन बिल्डिंग कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप मित्तल ने कहा कि राजस्थान आवासन मंडल ने कोविड-19 में जो काम किया है वह पूरे देश के संस्थानों के लिए एक केस स्टडी है। उन्होंने बताया कि पूरी बिल्डिंग इंडस्ट्री के लिए कोविड-19 का समय चुनौतिपूर्ण था, लेकिन इस समय में भी आवासन मंडल ने न केवल देश में सर्वाधिक मकान बेचे बल्कि कई अहम प्रोजेक्ट लाकर सभी को चकित कर दिया। उन्होंने कहा कि इंडियन बिल्डिंग कांग्रेस की ओर से मंडल की उपलब्धियां और कार्यशैली को सभी प्रदेशों तक पहुंचाएंगे। मित्तल राजस्थान आवासन मंडल और इंडियन बिल्डिंग कांग्रेस के संयुक्त तत्वावधान में चैलेंजेज बिफोर बिल्डिंग इंडस्ट्री ड्यू टू कोविड-19 विषय पर आयोजित वर्कशॉप को संबोधित कर रहे थे।
वर्कशॉप में राजस्थान आवासन मंडल अध्यक्ष भास्कर ए. सांवत ने इंजीनियरों को बिल्डिंग निर्माण में नवाचार करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि बिल्डिंग निर्माण की तकनीकी में निरंतर बदलाव हो रहा है, इसलिए इन बदलावों को हमें जरूर अपनाना चाहिए। उन्होंने इस वर्कशॉप के लिए मंडल और इंडियन बिल्डिंग कांग्रेस को बधाई दी। इस अवसर पर राजस्थान आवासन मंडल के मुख्य अभियंता केसी मीणा ने मंडल की उलब्धियां का प्रजेंटेशन दिया।
ये रहे मौजूद
सार्वजनिक निर्माण विभाग के सचिव सीएचमीना, सार्वजनिक निर्माण के मुख्य अभियंता संदीप माथुर, एच.डी. मेघवाल, जेडीए के मुख्य अभियंता एन.सी. माथुर, रूडसिको के मुख्य अभियंता अशोक चैधरी, पीएचईडी के अतिरिक्त मुख्य अभियंता बीएस मीना, आवासन मंडल के मुख्य वित्तीय सलाकार रेखा भास्कर सहित बड़ी संख्या में मंडल के अभियंता उपस्थित थे। संचालन उप आवासन आयुक्त प्रदीक श्रीवास्तव ने किया।

Amit Pareek
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned