Combust Jupiter Effects बृहस्पति अस्त होने से मांगलिक कार्याें पर फिर लगा विराम, पड़ेगा यह दुष्प्रभाव

Shubh Muhurat For Vivah Shubh Muhurat For Purchasing Vehicle Car Bike Griha Pravesh Bhumi Pujan Muhurat Combust Venus Makar Rashi Jupiter In Capricorn

By: deepak deewan

Published: 20 Jan 2021, 04:59 PM IST

जयपुर. देवगुरू बृहस्पति 19 जनवरी को अस्त हो गए। बृहस्पति अब 16 फरवरी तक इसी अवस्था में रहेंगे। गुरू तारा अस्त होते ही एक बार फिर मांगलिक कार्याें पर विराम लग गया हैे। इस बार मांगलिक कार्याें पर लगा बे्रक कुछ लंबा रहेगा। अब करीब तीन माह बाद ही विवाह जैसे शुभ कार्य किए जा सकेंगे. दरअसल 16 फरवरी को बृहस्पति का उदय होते ही शुक्र ग्रह अस्त हो जाएगा। मांगलिक कार्याें के लिए गुरू और शुक्र दोनों ही कारक ग्रह हैं इसलिए शुक्र के उदय होने के बाद ही ये कार्य किए जा सकेंगे। पंचांगों के अनुसार अब अपै्रल माह के अंतिम दिनों में ही मांगलिक कार्य किए जा सकेंगे।

ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि पहले गुरू और इसके बाद शुक्र अस्त हो जाने के बाद 22 अप्रैल से शादियां और अन्य शुभ काम शुरू हो सकेंगे। 19 जनवरी को गुरु तारा अस्त हो गया। 16 फरवरी के इसके उदय होने के दिन ही शुक्र तारा अस्त हो जाएगा। इस कारण शुभ कामों पर फिर से रोक लग जाएगी। इन ग्रहों की अस्त अवधि में विवाह और गृह प्रवेश जैसे मांगलिक कार्य नहीं किए जा सकेंगे। हालांकि 16 फरवरी को ही वसंत पंचमी है जिसे अबूझ मुहूर्त माना जाता पर इस साल इस दिन भी विवाह नहीं किए जा सकते हैं।

ज्योतिषाचार्य पंडित नरेंद्र नागर का कहना है कि बहुत जरूरी होने पर ही वसंत पंचमी के अबूझ मुहूर्त में विवाह या अन्य मांगलिक कार्य करना चाहिए। इस दिन सगाई, प्रॉपर्टी की खरीदी-बिक्री, ज्वेलरी, कपड़े आदि चीजों की खरीदी भी की जा सकती है। गुरु और शुक्र की अस्त अवधि में सूतक, नवजात का नामकरण, कथा जैसे मांगलिक कार्य कर सकते हैं पर रहते गृह प्रवेश, नींव पूजा, शिलान्यास या मुंडन संस्कार आदि वर्जित किए गए हैं। दरअसल गुरु और शुक्र के अस्त रहने के दौरान यदि विवाह आदि मांगलिक कार्य किए जाते हैं तो उनका शुभ या सार्थक परिणाम नहीं मिल पाता है।

deepak deewan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned