विद्युत निगम में बिजली मीटरों का टोटा

निगम ने नए बिजली कनेक्शनों के लिए लगाए कैंप
लेकिन कई उपभोक्ताओं को अब भी बिजली कनेक्शन मिलने का इंतजार
निगम के ग्रामीण खंड में सबसे ज्यादा किल्लत

By: anand yadav

Published: 27 Sep 2020, 10:40 AM IST

जयपुर। जयपुर विद्युत वितरण निगम के उपखंड कार्यालयों से जारी हुए नए बिजली कनेक्शनों के लिए इन दिनों बिजली मीटरों का इंतजार है। निगम के ग्रामीण खंड में सबसे ज्यादा बिजली मीटरों की डिमांड है जिसमें भी खासकर थ्री फेज मीटर की किल्लत के कारण उपभोक्ताओं को बिजली कनेक्शन जारी होने के बावजूद इंतजार करना पड़ रहा है।
जानकारी के अनुसार विद्युत निगम ने बीते दिनों नए बिजली कनेक्शन जारी करने में हो रही देरी की शिकायतों के बाद विशेष रूप से उपखंड कार्यालयों में चार दिन तक 'बिजली कनेक्शन शिविर'लगाए थे। शिविरों में आए आवेदकों को हाथोंहाथ बिजली कनेक्शन देने का दावा निगम ने किया। दूसरी तरफ निगम उपखंड कार्यालयों में सिंगल व थ्री फेज मीटरों की किल्लत के कारण नए बिजली कनेक्शन स्वीकृत होने के बावजूद कई आवेदकों को बिजली कनेक्शन के लिए इंतजार करना पड़ा है। जयपुर डिस्कॉम के ग्रामीण खंड में बिजली मीटरों की किल्लत का सामना उपभोक्ताओं को करना पड़ रहा है। निगम अधिकारियों के अनुसार लैब में मीटर टेस्टिंग की प्रक्रिया के बाद उपखंड कार्यालयों को नए बिजली मीटरों का आवंटन किया जाता है। ऐसे में उपखंड कार्यालयों की ओर से डिमांड नोट भी मीटर विंग को भेजा जाता है। बताया जा रहा है कि मीटर टेस्टिंग में हो रही देरी के चलते ग्रामीण खंड के उपखंड कार्यालयों में बिजली मीटरों की आंशिक किल्लत जैसे हालात बने हैं। हालांकि विद्युत निगम अफसरों ने जल्द ही उपखंड कार्यालयों को मांग के अनुसार सिंगल व थ्री फेज मीटरों की आपूर्ति बहाल करने की बात कही है।

केस—1 हाथोज उपखंड में नारायण सिटी निवासी कजोड़मल ने सिंगल फेज बिजली कनेक्शन के लिए बीते 27 जून को आवेदन किया। बीते 24 अगस्त को डिमांड नोट राशि 18372 रुपए जमा कराई। लेकिन बिजली कनेक्शन लगाने के लिए कहने पर जेईएन ने सिंगल फेज बिजली मीटर स्टॉक में नहीं होने की बात कही।
केस— 2 जगतपुरा निवासी पुष्पेंद्र ने घरेलू बिजली मीटर तेज चलने की शिकायत बीते दिनों उपखंड कार्यालय में दी है। लेकिन करीब दस दिन बीत जाने के बावजूद उपभोक्ता का बिजली मीटर नहीं बदला गया। बताया जा रहा है कि कार्यालय में नए बिजली मीटर अभी उपलब्ध ही नहीं है।


इनका कहना है— बीते दिनों बिजली मीटरों की उपलब्धता सब डिवीजन कार्यालयों में कम रही है। जल्द ही नए मीटर मांग के अनुसार उपलब्ध कराए जा रहे हैं। हरिओम शर्मा, एसई,जिला वृत्त जेवीवीएनएल

anand yadav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned