जयपुर में रामचरण वोहरा V/S ज्योति खंडेलवाल, जानें क्यों बन गया है रोचक मुकाबला

Lok Sabha Election 2019: Jyoti Khandelwal against Ramcharan Bohra in Jaipur Constituency

By: Nakul Devarshi

Published: 29 Mar 2019, 12:28 PM IST

जयपुर।
लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के मद्देनज़र जयपुर शहर संसदीय सीट (Jaipur Constituency) से मुकाबले की तस्वीर साफ़ हो गई है। प्रदेश की राजधानी जयपुर सीट से कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री व पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल (Jaipur Ex Mayor Jyoti Khandelwal) भाजपा के निवर्तमान सांसद रामचरण बोहरा (BJP candidate Ramcharan Bohra) को चुनौती देने के लिए चुनाव मैदान में उतर रही हैं। कांग्रेस पार्टी ने ज्योति खंडेलवाल पर भरोसा जताते हुए उन्हें टिकिट थमाया है।


जयपुर सीट से दोनों प्रमुख पार्टियों की ओर से प्रत्याशी घोषित होने के बाद अब इन दोनों के बीच मुकाबला बेहद दिलचस्प माना जा रहा है। कांग्रेस की ज्योति खंडेलवाल के लिए उनके प्रतिद्वंदी रामचरण बोहरा को हरा पाना बड़ी चुनौती रहेगी। दरअसल, 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान जयपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से रामचरण बोहरा सबसे ज़्यादा मतों से विजयी होने वाले प्रत्याशी रहे थे। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी को 5 लाख 39 हजार 345 मतों से पराजित किया था।

 

बोहरा इसलिए रहेंगें बड़ी चुनौती

2014 में हुए लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पृष्ठभूमि वाले बोहरा 5.39 लाख से भी अधिक मतों के रिकॉर्ड अन्तर से जीत हासिल की थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वीके सिंह के बाद बोहरा तीसरे नम्बर पर रहे थे, जो सर्वाधिक मतों के अंतर से जीते। वह जिला प्रमुख सहित संगठन में कई अहम पदों पर भी रह चुके हैं। 'पत्रिका' से ख़ास बातचीत में बोहरा ने कहा, 'दोबारा सांसद बनने के बाद सबसे पहला लक्ष्य होगा ईस्टर्न कैनाल प्रोजेक्ट को धरातल पर लाना। इससे 13 जिलों को राहत मिलेगी। खास तौर पर रामगढ़ बांध तक पानी लाने की उम्मीद पूरी हो सकेगी।'


ज्योति को जीत का भरोसा
इधर, कांग्रेस से टिकिट मिलने के बाद 'पत्रिका' से बातचीत में ज्योति खंडेलवाल ने सीट निकालने का दावा किया है। उन्होंने माना कि प्रतिद्वंदी से मुकाबला चुनौती भरा है लेकिन वो कांग्रेस के भरोसे को चुनाव जीतकर खरा उतारेंगी। ज्योति खंडेलवाल ने कहा, ''मैं जयपुर के लिए समर्पित कांग्रेस की कार्यकर्ता हूं। कांग्रेस की रीति नीति और हर कार्यक्रम को मैंने पूरे मन से आगे बढ़ाया है और हमेशा पार्टी के आदेश का सम्मान किया है। जनता से भी निरन्तर जुड़ी रही हूं। मैं जब महापौर रही तो सरकार के दरवाजे हमेशा जनता की समस्याओं के निस्तारण के लिए खुले रहते थे, लेकिन जनता अब पांच साल में बुरी तरह त्रस्त रही, उनकी समस्याओं का निस्तारण नहीं हुआ, अब हम जनता से फिर से सीधा संवाद करेंगे, उनकी समस्याओं का निस्तारण हमारी प्राथमिकता में होगा।


जयपुर की पूर्व महापौर ने कहा है कि जयपुर के सभी परम्परागत जल स्त्रोतों को पुर्नजीवित करने के लिए कार्ययोजना तैयार करेंगे, रामगढ़ बांध इनमें सबसे प्रमुख है, राज्य सरकार के साथ मिलकर इस बांध का पुराना वैभव वापस लौटाएंगे। जयपुर की पहचान को विश्वव्यापी बनाएंगे, जयपुर की रेलवे और एयर कनेक्टिवीटी को बढ़ाना, जयपुर को पेयजल में आत्मनिर्भर बनाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता में होंगे।

 

गौरतलब है कि स्थानीय निकायों में पहली बार हुए महापौर के सीधे चुनाव में ज्योति खंडेलवाल महापौर निर्वाचित हुई थीं। उस समय ज्योति भाजपा की सुमन शर्मा को हराकर महापौर बनी थी। वह चुनाव एक तरीके से लोकसभा चुनाव की तरह ही देखा गया था। जिसमें पूरे जयपुर शहर के मतदाता शामिल थे। देर रात जयपुर शहर लोकसभा सीट का टिकट मिलने के बाद ज्योति खंडेलवाल दिल्ली से जयपुर के लिए रवाना हो गई।

Show More
Nakul Devarshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned