भारी बारिश के बाद उफनी कालीसिंध, खेतों में भरा पानी, त्रिवेणी का गेज बढ़ने पर निरस्त हुए स्वतंत्रता दिवस समारोह

भारी बारिश के बाद उफनी कालीसिंध, खेतों में भरा पानी, त्रिवेणी का गेज बढ़ने पर निरस्त हुए स्वतंत्रता दिवस समारोह

Nidhi Mishra | Updated: 15 Aug 2019, 02:06:53 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

भारी बारिश के अलर्ट के बाद प्रदेश में कालीसिंध उफान पर है। कई खेतों में पानी भर गया है। वहीं त्रिवेणी नदी का गेज बढ़ने के कारण आप पास के शिक्षण संस्थानों में स्वतंत्रता दिवस समारोह निरस्त करने पड़े।

जयपुर। रायपुर के निकट कालीसिन्ध नदी ( Kalisindh River ) का पानी खेतो में भर गया। मध्यप्रदेश व क्षेत्र में हो रही जोरदार बारिश के बाद क्षेत्र के जलाशयो में भी उफान आ गया। कालीसिन्ध नदी भी उफान पर रहने से कस्बे के निकट पानी आ गया। ग्रामीण कारूलाल राकेश नायक ने बताया कि अभी पानी की आवक बढ़ रही है, जिससे खेतों में पानी भर गया। चवली नदी भी उफान पर रहने से हाइवे की पुलिया के बराबर पानी चल रहा है।


उधर, भीलवाड़ा के बीगोद में त्रिवेणी नदी ( Triveni River ) का गेज ढाई मीटर हो गया है। बुधवार से चल रही बारिश के चलते बनास, बेड़च एवं मैनाली नदियों में पानी की आवक बढ़ गई। गुरुवार दोपहर तक त्रिवेणी नदी का गेज ढाई मीटर हो गया है। कस्बे में बीते 24 घण्टों में 2 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई। बारिश के चलते स्वतंत्रता दिवस समारोह निरस्त कर दिए गए। विद्यालयों एवं राजकीय भवनों पर झंडा रोहण की रस्म निभाई गई।


वहीं बीसलपुर बांध ( Bisalpur Dam ) के कैचमेंट एरिया भीलवाड़ा जिले में हो रही बारिश से त्रिवेणी का गेज 55 सेमी बढ़ोतरी के साथ बुधवार शाम तक 2.20 मीटर पर चल पड़ा। बांध का जलस्तर मंगलवार रात आठ बजे 310.29 आरएल मीटर दर्ज किया गया था। बुधवार शाम छह बजे तक 10 सेमी की बढ़ोतरी के साथ 310. 39 आरएल मीटर पर पहुंच गया।

 

गुरूवार को भी प्रदेश के कई इलाकों में जोरदार बारिश ( Heavy Rain ) का दौर रहा। राजधानी जयपुर में सुबह से ही आसमान में काली घटाएं घिरी रही और जमकर बरसी। पानी से सडक़े लबालब हो गई। कई इलाकों में भारी मात्रा में पानी भर गया। वहीं कई जिलों की प्यास बुझाने वाले बीसलपुर बांध ( Bisalpur Dam ) में पानी की आवक लगातार जारी है। बांध को भरने वाली त्रिवेणी नदी ( Triveni River ) अपने पूरे वेग के साथ बांध की झोली भर रही है। प्रदेश में लगातार बारिश से बांसवाड़ा के माही बांध ( Mahi Dam ) में जल आवक बने रहने पर बुधवार को 16 गेट खोले गए। बांध में 37500 क्यूसेक पानी की आवक के मुकाबले 35000 क्यूसेक छोड़ा गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned