Kirodi Lal Meena बोले ‘आखिरी सांस तक जारी रहेगा संघर्ष’, जानें पिछले 5 दिन से क्यूं जारी है गतिरोध?

मूक-बधीर पुजारी शंभू शर्मा मौत प्रकरण, सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा का बेमियादी धरना आज छठे दिन भी जारी, शेष रही मांगे पूरी नहीं होने तक धरना जारी रखने पर अड़े सांसद, सांसद बोले, ‘वादे के मुताबिक़ मंदिर माफ़ी ज़मीन से नहीं हटा है निर्माण’, सांसद के मांगों पर अड़े रहने से प्रशासन के फूले हाथ-पाँव, पड़ाव स्थल पर आज से सर्व समाज के लोगों को जुटाने की तैयारी

 

By: nakul

Published: 08 Apr 2021, 11:03 AM IST

जयपुर।

दौसा के महवा स्थित टीकरी ज़ाफ़रान गांव में मूक-बधीर पुजारी शंभू शर्मा के मौत प्रकरण को लेकर राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा का बेमियादी धरना आज छठे दिन भी जारी है। सभी मांगों पर कार्रवाई नहीं होने के चलते सांसद मीणा मृतक पुजारी के परिजनों और ग्रामीणों के साथ पुलिस थाने के बाहर ही पड़ाव डाले हुए हैं। धरनास्थल पर ही मृतक का शव भी रखा हुआ है और अब तक उसकी अंत्येष्ठी नहीं हो सकी है।

 

डॉ मीणा ने कहा है कि प्रशासन से बनी सहमति के अनुसार बुधवार दोपहर तीन बजे तक मंदिर माफ़ी की ज़मीन से अतिक्रमण हटाया जाना था। लेकिन भूमाफियाओं के दबाव में कोई कार्रवाई नहीं हुई। ना ही अब तक इस प्रकरण को लेकर किसी की गिरफ्तारी हुई है। ऐसे में जब तक मांगे पूरी नहीं होंगी तब तक ना ही धरना ख़त्म होगा और ना ही शंभू पुजारी के शव की अंत्येष्ठी ही होगी। सांसद ने कहा कि शंभू के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए मेरा संघर्ष आखिरी सांस तक जारी रहेगा।

 

आज से तेज़ होगा आंदोलन
डॉ किरोड़ी लाल मीणा के नेतृत्व में महवा थाने के बाहर जारी पड़ाव का पैमाना अब धीरे-धीरे बढ़ सकता है। जानकारी के अनुसार अब महवा उपखंड क्षेत्र के सर्व समाज के लोगों को पड़ाव स्थल पर एकजुट किया जाएगा। इनमें महिलाएं भी शामिल होंगी। प्रशासन पर दबाव बनवाने और मांगे मनवाने के लिए रणनीति तैयार की जा रही है।

 

...इधर जारी है जांच
सांसद के पिछले पांच दिन से पड़ाव डाले बैठे होने के कारण स्थानीय प्रशासन के भी हाथ-पाँव फूले हुए हैं। कुछ मांगों पर तो सहमति बन गई लेकिन शेष रही मांगों पर कानूनी व विधिक अडचनों के चलते अब तक गतिरोध बरकरार है। दौसा कलक्टर पीयूष सामरिया का कहना है कि क्यूंकि मामला रजिस्ट्री से जुदा हुआ है, लिहाजा प्रशासनिक प्रक्रिया अपनाई जा रही है। वहीं मंदिर माफ़ी की ज़मीन पर बने निर्माणों को तोड़ने के मामले पर भी जांच जारी है। पूरे तथ्यों की जांच-पड़ताल के आधार पर ही कोई कार्रवाई की जा सकेगी।

 

ये है मामला
गत दिनों टिकरी गांव के 75 वर्षीय बुजुर्ग व मूक-बधिर पुजारी शंभू शर्मा की मौत हो गई थी। परिजनों का आरोप है कि गांव के कुछ भूमाफियाओं और दबंगों ने अफसरों से गठजोड़ करके उसकी बेशकीमती जमीन को हथिया लिया। इस सदमे में बुजुर्ग पुजारी की मौत हो गई। अब मृतक पुजारी को न्याय दिलाने के लिए परिजनों और ग्रामीणों के साथ सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा भी धरने पर बैठे हुए हैं।

 

इन मांगों पर बनी है सहमति
- मृतक शंभू शर्मा की जमीन की रजिस्ट्री षड्यंत्र करने के मामले में तहसीलदार को एपीओ करने के आदेश
- मृतक द्वारा पूर्व में दर्ज मुकदमे की धारा 420 में अब धारा 302 को भी जोड़ा गया।
- एसपी द्वारा मामले की पड़ताल के लिए तीन टीम गठित
- षड्यंत्र में लिप्त अपराधियों को जल्दी पकड़ने का आश्वासन
- मंदिर माफी की जमीन पर अवैध निर्माण को प्रशासन द्वारा आज 3 बजे तक तोड़ने का आश्वासन

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned