दौसा से टिकट नहीं मिलने पर क्या पत्नी गोलमा को निर्दलीय उतारेंगे डॉ किरोड़ी?

दौसा से टिकट नहीं मिलने पर क्या पत्नी गोलमा को निर्दलीय उतारेंगे डॉ किरोड़ी?

Nakul Devarshi | Publish: Apr, 14 2019 03:48:55 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

दौसा से टिकट नहीं मिलने पर क्या पत्नी गोलमा को निर्दलीय उतारेंगे डॉ किरोड़ी?

जयपुर।

लोकसभा चुनाव 2019 ( Lok Sabha Election 2019 )के तहत Rajasthan में अब सभी 25 सीटों पर तस्वीर साफ़ हो गई है। BJP ने रविवार को एकमात्र Dausa सीट पर भी प्रत्याशी की घोषणा कर दावेदारों के बीच चल रही खींचतान को ख़त्म कर दिया। लेकिन अब सभी की नज़र राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा ( Dr. Kirori Lal Meena ) के अगले कदम को लेकर है। अब सस्पेंस इस बात को लेकर बन गया है कि क्या किरोड़ी लाल मीणा पत्नी गोलमा देवी ( golma devi ) को बतौर निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारते हैं या नहीं। गौरतलब है कि दौसा सीट पर किरोड़ी और उनके विरोधी विधायक ओम प्रकाश हुड़ला के बीच खींचतान चल रही थी। इस खींचतान के बीच भाजपा नेतृत्व ने पूर्व केंद्रीय मंत्री जसकौर मीणा को टिकिट देकर इस गतिरोध को ख़त्म कर दिया।


दरअसल, दौसा सीट पर चली खींचतान के दौरान ही डॉ मीणा ने इस बात के संकेत दे दिए थे कि यदि उनकी पत्नी को दौसा सीट से बीजेपी टिकट नहीं देती है तो वो निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का भी फैसला कर सकते हैं। डॉ किरोड़ी के इस रुख को देखते हुए पार्टी में अंदरखाने भी चर्चाओं का बाज़ार गर्म हो चला था। वहीं सोशल मीडिया पर भी किरोड़ी की पत्नी के निर्दलीय चुनाव लड़ने की बातें वायरल होने लगी थी।

 

.... तो किरोड़ी नहीं करेंगें बगावत!

दौसा सीट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री जसकौर मीणा को लोकसभा चुनाव का टिकट दिए जाने के बाद ये तो साफ़ हो गया कि अब डॉ किरोड़ी लाल मीणा की पत्नी गोलमा देवी भाजपा के टिकट पर प्रत्याशी नहीं रहेंगी। जहां तक चर्चाएं उनके निर्दलीय लड़ने की है तो इस बात पर संभावना बेहद काम ही दिखाई दे रही हैं।


डॉ मीणा का हालांकि इस बारे में अभी आधिकारिक बयान आना बाकी है, लेकिन उनके नज़दीकी सूत्रों और राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो किरोड़ी की बीजेपी से बगावत करने की संभावना बिलकुल कम ही है। गौरतलब है कि दौसा सीट पर बने गतिरोध के बीच भाजपा का शीर्ष नेतृत्व लगातार डॉ मीणा से संपर्क में रहा है। राजस्थान में लोकसभा चुनाव प्रभारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी किरोड़ी को मनाने के लिए उनसे मुलाक़ात कर वन टू वन बातचीत की थी। यही नहीं विवाद ने इतना तूल पकड़ लिया था कि मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तक के संज्ञान में पहुंच गया था।

kirori lal meena narendra modi

यही नहीं सूत्रों की मानें तो राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी मीणा की पिछले कुछ दिनों में नई दिल्ली में शीर्ष नेतृत्व के सीनियर नेताओं से भी कई स्तर की बातचीत हुई है। ऐसे में बीजेपी और उनके नेताओं से प्रगाढ़ हुए संबंधों को देखते हुए किरोड़ी के पार्टी से बगावत करने की संभावना भी बेहद कम लग रही हैं।


माना ये भी जा रहा है कि डॉ किरोड़ी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी बीजेपी पार्टी की विचारधारा से इतर जाने का बड़ा फैसला इसलिए भी नहीं ले सकते हैं क्योंकि मौजूदा परिस्थिति में ऐसा करना उनके लिए नुकसानदायक हो सकता है। हालांकि फिलहाल अभी सभी की नज़र पत्नी गोलमा को टिकट नहीं मिलने के बाद डॉ मीणा के आधिकारिक बयान पर टिकी हुई हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned