कोविड-19 : टूर्नामेंट रद्द होने के बाद अब खिलाडिय़ों की घटेगी सैलेरी

दुनिया भर में कोरानो वायरस के कहर के चलते बड़े टूर्नामेंट रद्द हो चुके हैं ऐसे में इन टूर्नामेंटों में खेलने वाले खिलाडिय़ों को इस बार कम कीमत पर गुजारा करना होगा

By: satish

Published: 31 Mar 2020, 10:00 PM IST

जयपुर। कोराना वायरस के खतरे को देखते हुए खेल जगत में सभी राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर टूर्नामेंटों पर बे्रक लग गया है। भारत में खेले जाने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टूर्नामेंट सहित यूरोप की आईलीग और ओलंपिक तक सभी इस दायरे में आ गए हैं ऐसे में खिलाडिय़ों के वेतन में कटौती होना भी शुरू हो गई है। यूरोपियन फुटबॉल क्लब जुवेंट्स अब भारी सैलेरी के चलते रोनाल्डो की विदाई चाहता है वहीं आईपीएल नहीं होने की स्थिति में फ्रेचाइजी खिलाडिय़ों को उनकी फीस नहीं दे पाएंगी।
इटली के जुवेंट्स को सबसे अधिक नुकसान
कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा प्रकोप झेल रहे इटली का फुटबॉल क्लब जुवेंटस खेल गतिविधियां ठप्प होने के कारण हुए नुकसान को देखते हुए अपने स्टार खिलाड़ी पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो से अपनी राहें अलग कर सकता है। जुवेंटस के पास तीन विकल्प हैं जिसमें वह रोनाल्डो को सात करोड़ यूरो (पांच अरब 78 करोड़ रुपये) में बेच सकता है या उनका अनुबंध नहीं बढ़ा सकता है जो 2022 में खत्म होना है। इसके अलावा जुवेंटस रोनाल्डो का अनुबंध कम वेतन पर एक साल के लिए बढ़ा सकता है। 35 वर्षीय रोनाल्डो जुलाई 2018 में क्लब से जुड़े थे और उन्होंने इससे तीन करोड़ 10 लाख यूरो कमाए हैं। रोनाल्डो और अन्य जुवेंटस के खिलाड़यिों ने कमजोर आर्थिक हालात को देखते हुए वेतन कटौती करने पर सहमति जाहिर की थी। इटली में अब तक 101739 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और यहां इससे 11591 लोगों की मौत हो चुकी है। शोभित राज वा
ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी वेतन कटौती को तैयार
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के कप्तान टिम पेन ने कहा है कि है कि कोरोना वायरस के कारण क्रिकेट गतिविधियां रुकने से हुए नुकसान को देखते हुए टीम के खिलाड़ी वेतन कटौती के लिए तैयार हैं। ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के कारण क्रिकेट गतिविधियां ठप्प पड़ी हुई है औऱ इसका उनके घरेलू सत्र पर भी असर पड़ा है। पेन ने कहा कि उन्हें इस बात की उम्मीद कम है कि टीम बंगलादेश दौरे पर जा पाएगी।
इंग्लैंड के क्रिकेटर भी दायरे में
इंग्लैंड टेस्ट टीम के कप्तान जो रुट ने कहा है कि उन्हें लगता है कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न संकट की घड़ी और सत्र पर इसका प्रभाव पडऩे के चलते इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) खिलाड़यिों के वेतन में कटौती कर सकता है। इंग्लैंड में कोरोना वायरस के कारण 28 मई तक सभी क्रिकेट गतिविधियां ठप्प पड़ी हुई है और ऐसे में बोर्ड को इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है। रुट को लगता है कि कोरोना के कारण गतिविधियां ठप्प होने से केंद्रीय अनुबंध में शामिल खिलाड़यिों के वेतन में कटौती की जा सकती है।

satish Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned