लघुकथा -पड़ोसी का धर्म

मोहन ने कहा-भैया जी मैंने कोई एहसान नहीं किया, मैंने तो अपना पड़ोसी धर्म निभाया है। उधर रवि की आंखों में पश्चाताप के आंसू थे।

By: Chand Sheikh

Published: 21 Nov 2020, 11:59 AM IST

राम गोपाल आचार्य
पड़ोसी का धर्म

रवि की बड़ी नौकरी थी। उसे कंपनी के कार्य से अधिकतर बाहर जाना पड़ता था। उन्होंने शहर में नया-नया मकान बनाया था। कॉलोनी में आसपास के पड़ोसी उच्च जीवन स्तर जीने वाले गाड़ी-बंगलों वाले लोग थे। लेकिन रवि के बाजू में मोहन का छोटा सा मकान था।

मोहन ऑटो रिक्शा चला कर अपना गुजारा करता था। कॉलोनी के सभी लोग मोहन को हीन दृष्टि से देखते थे। रवि और उसकी पत्नी नेहा अन्य पड़ोसियों के साथ अच्छा व्यवहार रखते थे। उनके यहां आना जाना, चाय-पार्टी पर आपस में बुलाना आम बात थी। लेकिन मोहन के प्रति वे भी अन्य की तरह रूखा व्यवहार ही रखते थे।

मोहन के नमस्कार करने पर भी रवि सीधे मुंह जवाब नहीं देता था। नेहा भी मोहन की पत्नी से बात करने में संकोच करती थी। एक दिन रवि को कंपनी के कार्य से शहर से बाहर जाना था। वह अपनी गर्भवती पत्नी को अकेला छोड़कर नहीं जाना चाह रहा था,परंतु एक दिन की ही बात है, यह सोच कर रात को वह निकल गया।
प्रात: काल पांच बजे नेहा को प्रसव पीड़ा प्रारंभ हुई। वह दर्द से कराहती हुई दरवाजे तक पहुंची। मोहन की पत्नी जो बाहर झााड़ू लगा रही थी, सारा माजरा समझा गई। उसने अपने पति मोहन को बुलाया और दोनों ही ऑटो से नेहा को अस्पताल लेकर पहुंचे। तुरंत भर्ती कराया। डॉक्टर ने कहा इनका ऑपरेशन करना होगा,कमजोर होने से खून की भी आवश्यकता होगी। मोहन ने अपना खून दिया।

फिर कुछ समय बाद नर्स ने नेहा के पुत्र होने की खबर दी। मोहन और उसकी पत्नी बहुत प्रसन्न हुए। फिर मोहन ने रवि को फोन करके यह खुशी का समाचार सुनाया। रवि के पहुंचने पर नेहा ने मोहन और उसकी पत्नी द्वारा की गई मदद के बारे में बताया। नेहा ने कहा कि मुश्किल समय में बड़े-बड़े लोग और उनकी बड़ी गाडिय़ां काम नहीं आईं, मोहन और उसका ऑटो रिक्शा ही काम आया। रवि ने मोहन के पांव पकड़ लिए और माफी मांगते हुए कहा कि मैं तुम्हारा ऋणी हूं। मोहन ने कहा-भैया जी मैंने कोई एहसान नहीं किया, मैंने तो अपना पड़ोसी धर्म निभाया है। उधर रवि की आंखों में पश्चाताप के आंसू थे।

Chand Sheikh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned