इलेक्ट्रोपैथी को लेकर बोले लाहोटी, ये इटली से है, इसे लागू करिए

राजस्थान विधानसभा में इलेक्ट्रोपैथी को लेकर भी कुछ सदस्यों ने बात उठाने हुए इसकी मांग की। सांगानेर से विधायक डॉ अशोक लाहोटी ने कहा कि इलेक्ट्रोपैथी इटली की है।

By: Ashish

Updated: 10 Mar 2021, 05:45 PM IST

जयपुर
राजस्थान विधानसभा में इलेक्ट्रोपैथी को लेकर भी कुछ सदस्यों ने बात उठाने हुए इसकी मांग की। सांगानेर से विधायक डॉ अशोक लाहोटी ने कहा कि इलेक्ट्रोपैथी इटली की है। अगर इसे राज्य में लागू नहीं किया तो सोनिया गांधी से शिकायत करेंगे। लाहोटी ने सदन में कहा कि ये राहुल गांधी के ननिहाल का मामला है, इसे लागू करना पड़ेगा। लाहोटी ने सदन में नकली दवा के जांच के मामलों में होने वाली देरी का मुद्दा भी उठाया। साथ ही कहा कि इलेक्ट्रोपैथी में काम में ली जाने वाले औषधीय पौधे राज्य और देश में होते हैं। लाहोटी ने कहा कि कोरोना काल के बाद हमें वैकल्पिक चिकित्सा पर ध्यान देना होगा। उन्होंने चिकित्सा विभाग में खाली पड़े पदों को भरने का मामला भी उठाया।
मंडावा से विधायक रीटा चौधरी ने कहा कि कोरोना काल में प्रधानमंत्री सरकार को गिराने की गतिविधियों के साथ ही वेलकम ट्रंप में व्यस्त थे। जबकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जागरूक थे और उन्होंने कोरोना को देखते हुए सबसे पहले लॉकडाउन किया। रीटा चौधरी ने कहा कि राज्य में जब अस्पतालों के निरीक्षण के लिए टीम आती हैं तो डॉक्टर्स को इधर उधर भेजा जाता है। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालयों पर भूमि का आवंटन करके पीपीपी मोड पर मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जा सकते हैं। उन्होंने पीजी और एमबीबीएस की सीट बढ़ाने की बात भी कही। साथ ही कहा कि एसएमएस अस्पताल को रेफरल अस्पताल में सिर्फ रेफरल केस ही देने चाहिए। उन्होंने झुन्झुनू में मेडिकल कॉलेज के लिए प्रस्तावित स्थान को बदलने की मांग भी की। सदन में जैतारण से विधायक अविनाश ने कहा कि राज्य के ग्रामीण इलाकों में महिला चिकित्सकों की नियुक्ति की जानी चाहिए ताकि इलाज के अभाव में मौत नहीं हो।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned