scriptLeaders of France, Germany and Italy reached Ukraine to show unity | एकता दिखाने यूक्रेन पहुंचे फ्रांस, जर्मनी व इटली के नेता | Patrika News

एकता दिखाने यूक्रेन पहुंचे फ्रांस, जर्मनी व इटली के नेता

रूस के यूक्रेन पर 24 फरवरी के आक्रमण के बाद पहली बार यूरोपीय संघ के तीन देशों के नेताओं ने यूक्रेन के साथ एकजुटता दिखाने और उसे ईयू में शामिल करने के समर्थन में कीव का दौरा किया है। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज, इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों पोलैंड से रात भर ट्रेन यात्रा के बाद यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से मिलने कीव पहुंचे। रोमानिया के राष्ट्रपति क्लाउस इओहानिस भी उनके साथ थे।

जयपुर

Published: June 17, 2022 09:04:40 pm

रूस के यूक्रेन पर 24 फरवरी के आक्रमण के बाद पहली बार यूरोपीय संघ के तीन देशों के नेताओं ने यूक्रेन के साथ एकजुटता दिखाने और उसे ईयू में शामिल करने के समर्थन में कीव का दौरा किया है। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज, इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों पोलैंड से रात भर ट्रेन यात्रा के बाद यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से मिलने कीव पहुंचे। रोमानिया के राष्ट्रपति क्लाउस इओहानिस भी उनके साथ थे।

indian-students-leaving-ukraine-will-get-admission-russian-university.jpg

मैक्रों ने कीव रेलवे स्टेशन पर कहा, यह एकता और हमारे समर्थन का संदेश है जिसे हम यूक्रेन के लोगों के लिए लाए हैं। इस बीच रूस ने कहा कि इन नेताओ को यूक्रेन को और हथियार देने जैसी योजना से बचना चाहिए। उधर, दावा है कि रूसी रॉकेटाें ने यूक्रेन के सूमी पर हमला किया जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई और छह घायल हो गए। जब यूरोपीय नेता कीव पहुंचे, तब भी हवाई हमलों के सायरन बज रहे थे। वहीं, पूर्वी शहर सिविरोडनत्स्क पर कब्जे की लड़ाई जारी रही।

ईयू में शामिल करने की वकालत
जेलेंस्की से कीव में वार्ता के बाद, मैक्रों ने कहा कि हमने यूक्रेन को ‘तत्काल’ ईयू के उम्मीदवार का दर्जा देने के विचार का समर्थन किया। ड्रैगी ने कहा कि इटली यूक्रेन को ईयू के हिस्से के रूप में देखना चाहता है। स्कोल्ज ने वचन दिया कि जब तक जरूरत रहेगी, जर्मनी आर्थिक व सैन्य रूप से यूक्रेन को समर्थन देता रहेगा।

अमरीका ने दी एक अरब डॉलर की मदद
यूक्रेन की अपील के बाद अमरीका ने यूक्रेन के लिए 1 अरब डॉलर के हथियारों के नया पैकेज घोषित किया है। यह दौरा ऐसे समय में हुआ है जब यूक्रेन अपने पश्चिमी सहयोगियों से अपने लिए अतिरिक्त भारी हथियारों की आपूर्ति करने की गुहार लगा रहा है। इसी सप्ताह एक अधिकारी ने कहा था कि पश्चिम से अनुरोध किए गए हथियारों का केवल 10% प्राप्त हुआ है। अगर रूस से बराबरी कर सकने जितने हथियार हमें मिलते हैं तो हम रूस को हरा देंगे।

पोलैंड से ट्रेन में बैठ कर आए
यूरोपीय संघ के तीनों नेताओं इरपिन का दौरा किया, जिस पर रूस की सेना ने लगभग चार महीने के लंबे युद्ध के पहले चरण के दौरान कब्जा कर लिया था। स्कोल्ज ने ट्वीट कर कहा, ‘इस शहर का क्रूर विनाश एक चेतावनी है कि इस युद्ध को समाप्त होना चाहिए।’

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.