सुपरवाइजर बोला, सरकार नहीं मेरे मालिक के आदेश मानूंगा, फिर पुलिस ने जो किया....

corona virus latest update: lock Down in Rajasthan

जयपुर
अलवर जिले के चौपानकी इलाके में लॉक डाउन के बाद भी चल रहे एक फैक्ट्री को पुलिस ने बंद कराया और वहां काम कर रहे कार्मिकों को घर छुड़ाया। उसके बाद पुलिस ने कंपनी के सुपरवाइजर को अरेस्ट कर लिया अब कंपनी के मालिक के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है। थाना प्रभारी मुकेश कुमार ने बताया कि चौपानकी इलाके में सुप्रिया केबल कंपनी लॉक डाउन के बाद भी संचालित हो रही थी और मजदूरों से काम कराया जा रहा था। मौके पर पहुंच सुपरवाइजर प्रवीण निवासी बारासमस्तपुर यूपी से जानकारी की गई तो उसने कंपनी मालिक निलेश गुप्ता के कहे अनुसार कंपनी का संचालन करने की बात कही। जिस पर उसे सरकार के आदेशों के बारे में जानकारी दी गई लेकिन उसने कंपनी मालिक के आदेश की पालना की बात कही। इस पर उसे अरेस्ट कर लिया गया।

उधर प्रतापगढ़ थाना इलाके में भी एक अन्य मामला दर्ज किया गया। अजबगढ़ निवासी पायल मेडिकल के संचालक बाबूलाल के खिलाफ सरकार की निर्धारित दर 10 रुपए से अधिक 40 रुपए में मास्क बेचने पर मामला दर्ज किया गया है। प्रतापगढ़ थाना अधिकारी हनुमान सहाय मीना ने बताया कि ग्रामीणों से इस बारे में शिकायत मिली थी। पुलिस टीम ने मौके पर शिकायत की पुष्टि की। इसके बाद दुकान संचालक बाबूलाल के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरु की। दुकान से कई मॉस्क और सेनेटाइजर बरामद कर लिए गए हैं।

उधर गंगानगर जिले में धारा 144 लागू हाेने के बावजूद अनावश्यक सेवा की दुकान खाेलकर काराेबार कर रहे एक व्यक्ति पर जवाहरनगर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच कर रही पुलिस ने बताया कि इंदिरा चाैक से बीरबल चाैक के बीच वाल्मीकि धर्मशाला के पास पतंग की दुकान मालिक अब्दुल अजीज दुकान खाेलकर पतंगें बेच रहा था। इसकी दुकान पर ग्राहकाें की भीड़ थी। पुलिस ने दुकान बंद कर घर जाने का आग्रह किया लेकिन वह नहीं माना। एक घंटे बाद पुलिस ने दाेबारा जांच की ताे आराेपी दुकान खाेलकर बैठा था और पतंगें बेच रहा था। इस पर उसे शांति भंग करने के आरोप में अरेस्ट कर लिया गया।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned