बंद के दौरान मजदूरों के लिए खाना जुटाने में जुटे सामाजिक संगठन

जयपुर में 21 मार्च से लॉकडाउन के बाद से दिहाड़ी मजदूरों के खाने की मुसीबतों को देखते हुए राज्य सरकार कई घोषणाए कर चुकी हैं, फूड पैकेट बांटे जा रहे हैं, वहीं विभिन्न सामाजिक संगठन भी आगे आए हैं। बंद के प्रभाव से मजदूरों और कच्ची बस्ती के लोगों को भोजन के पैकेट बांटे जा रहे हैं। वहीं एसएमएस अस्पताल के बाहर मरीजों और सड़क पर रहने वालों में 21 मार्च से भोजन वितरित किया जा रहा है।

JAIPUR जयपुर में 21 मार्च से लॉकडाउन के बाद से दिहाड़ी मजदूरों के खाने की मुसीबतों को देखते हुए राज्य सरकार कई घोषणाए कर चुकी हैं, फूड पैकेट बांटे जा रहे हैं, वहीं विभिन्न सामाजिक संगठन भी आगे आए हैं। बंद के प्रभाव से मजदूरों और कच्ची बस्ती के लोगों को भोजन के पैकेट बांटे जा रहे हैं। वहीं एसएमएस अस्पताल के बाहर मरीजों और सड़क पर रहने वालों में 21 मार्च से भोजन वितरित किया जा रहा है। यह खाना इन संगठनों के वालंटियर्स द्वारा अस्पतालों के बाहर, बेघरों, बंजारे, कच्ची बस्ती में रह रहे गरीब मजदूरों को पहुंचाए हैं। जयपुर में जलेब चौक, हसनपुरा, 200 फीट बाइपास, बाइस गोदाम, कावेरी पथ, वीटी रोड, बदरवास, SFS सर्किल मानसरोवर, झालाना आरटीओ के पास, विद्याधर नगर की बस्तियां, सिद्धार्थ नगर कच्ची बस्ती जवाहर सर्कल, मानसरोवर मेट्रो स्टेशन जे पास, कठपुतली नगर, राजिंदर नगर सहित कई जगहों पर पैकेट बांटे जा रहे हैं। पीयूसीएल राजस्थान, सेंटर फॉर इक्विटी स्टडीज राजस्थान, निर्माण एवं जनरल वर्कर्स यूनियन, मजदूर किसान शक्ति संगठन, राजस्थान असंगठित मजदूर यूनियन, सूचना का अधिकार मंच, भारत ज्ञान विज्ञानं समिति, हेल्पिंग हैंड्स व ओमा फाउंडेशन जयपुर ने मिलकर हर दिन 3000 से अधिक खाने के पैकेट देर रात तक बांटे जा रहे हैं।

Tasneem Khan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned