Locust Attack || किसानों ने बजाए बर्तन और पीपे

आज भी जारी रहा टिड्डी दल का हमला

कालाडेरा में जमाया था डेरा

By: Rakhi Hajela

Updated: 22 Jun 2020, 09:03 PM IST

प्रदेश की राजधानी जयपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले दो दिन से चल रहा टिड्डी हमला सोमवार को भी जारी रहा। टिड्डी दल ने सोमवार को कालाडेरा और आसपास के कई गांवों में अपना डेरा डाल दिया जिससे ग्रामीण और किसानों की परेशानी बढ़ गई है। सोमवार को किसानों ने बर्तन और पीपे आदि बजा कर इन्हें भगाया इसके बाद यह दल यहां से आगे बढ़ गया।
इससे पहले गत रात को टिड्डी दल कानरपुरा, बाई का बास एवं घिनोई के कुछ हिस्सों में रुक गया था।टिड्डी दल की सूचना मिलते ही कृषि विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पंहुचे और इन्हें नियंत्रित करने की कारवाई शुरू की। अधिकारियों ने बताया कि टिड्‌डी दिन में उड़ती हैं लेकिन रात को पेड़ों पर रुक जाती है इसलिए रात के समय दमकल और स्प्रे मशीन मंगवाकर छिड़काव करवाया जिससे 60 प्रतिशत टिड्डियों का सफाया हो गया। इस दौरान रात्रि में चौंमू विधायक रामलाल शर्मा भी मौके पर पहुंचे। वहीं पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने टिड्डी दल से प्रभावित गांवों का दौरा कर हालात का जायजा लिया।
इसी प्रकार झुंझुनूं के खिरोड़ क्षेत्र में अचानक टिड्डी दल के आ जाने से किसानों में हड़कम्प सा मच गया। किसानों ने इस टिड्डी दल को डीजे, थाली और पीपे बजाकर दल को वापिस भगा दिया। किसानों ने बताया कि यह टिड्डी दल सीकर जिले के तारपुरा गांव एवं भैंरूजी स्टेंड की ओर से आया था और देखते ही देखते खिरोड़ के सेवानगर, गढ़वालों की ढ़ाणी, मिठारवालों की ढ़ाणी एवं खिरोड़ कस्बे के कई इलाकों में खेतों पर मंडराने लगा। जिसे लोगों ने थाली, पीपे और डीजे बजाकर वापिस भगा दिया। टिड्डी दल को भगाने के लिए करीब दो घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी। किसानों ने टिड्डी दल आने की सूचना ग्राम पंचायत खिरोड़ के सरपंच महावीर प्रसाद भामू ने दी। इसके बाद कृषि अधिकारी जगदीश प्रसाद, कृषि पर्यवेक्षक हरलाल सिंह मौके पर पंहुचे और किसानों को आश्वासन दिया।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned