scriptRajasthan Politics : ‘मिशन लोकसभा चुनाव’ के लिए BJP V/S Congress, दोनों के लिए आज दिन क्यों है ख़ास? | Lok Sabha Election in Rajasthan BJP Congress meetings strategy to win 25 seats | Patrika News

Rajasthan Politics : ‘मिशन लोकसभा चुनाव’ के लिए BJP V/S Congress, दोनों के लिए आज दिन क्यों है ख़ास?

locationजयपुरPublished: Feb 22, 2024 10:27:21 am

Submitted by:

Nakul Devarshi

Lok Sabha Election in Rajasthan : ‘मिशन लोकसभा’ पर भाजपा-कांग्रेस… ‘शह’ और ‘मात’ का सियासी खेल… एक-दूसरे को पटखनी देने की बन रही रणनीतियां
 

Lok Sabha Election in Rajasthan BJP Congress meetings strategy to win 25 seats

 

राजस्थान की 25 लोकसभा सीटों पर इसी साल प्रस्तावित चुनाव को लेकर दोनों प्रमुख सियासी दलों ने कमर कस ली है। ‘डबल इंजन’ की सरकार बनाने में सफल रही भाजपा जहां वर्ष 2013 और वर्ष 2018 के नतीजों की तर्ज पर एकतरफा जीत पाने की उम्मीद में है, तो वहीं कांग्रेस भी मजबूती से चुनाव लड़ने की दिशा में पूरा दमखम लगाती दिख रही है। ‘सत्ता का फाइनल’ कहे जाने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी इन दोनों ही पार्टियों के लिए आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है।

राजस्थान BJP के किन तीन सीनियर नेताओं पर अचानक से ‘भड़क’ उठे अमित शाह?

कांग्रेस : आला नेता दौसा में करेंगे संवाद
प्रदेश कांग्रेस ने भी लोकसभा चुनाव की तैयारियों को रफ़्तार देना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में आज दौसा में एक महत्वपूर्ण संवाद कार्यक्रम रखा गया है। इसमें पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा के अलावा प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली दौसा लोकसभा क्षेत्र से जुड़े नेताओं के साथ संवाद करेंगे और प्रस्तावित चुनाव के सिलसिले में रणनीति बनाएंगे।

नेताओं के दल-बदल का ‘नफ़ा-नुक्सान ‘
[typography_font:14pt;” >
प्रदेश भाजपा के शीर्ष नेताओं की कोर कमेटी आज एक बार फिर जयपुर में जुटाने जा रही है। प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी की अध्यक्षता में प्रदेश मुख्यालय में दोपहर 12 बजे प्रस्तावित बैठक में लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर गहन मंथन होगा और ‘मिशन 25’ में जीत हासिल करने को लेकर रणनीति बनाई जाएगी।

लोकसभा चुनाव से पहले नेताओं के दल-बदल की आशंका लगातार बनी हुई है। ऐसी संभावनाओं के बीच भी दोनों राजनीतिक दलों की तैयारी बैठकें महत्वपूर्ण हो जाती हैं। गौरतलब है कि वागड़ क्षेत्र में कद्दावर नेता महेन्द्रजीत सिंह मालवीय ने हाल ही में कांग्रेस पार्टी का वर्षों पुराना साथ छोड़कर भाजपा ज्वाइन की है। उनके बाद कांग्रेस के कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं के भी भाजपा में शामिल होने की अटकलें और चर्चाएं परवान पर हैं। हालांकि कांग्रेस नेता इन संभावनाओं को खारिज तो कर रहे हैं, लेकिन चुनाव से पहले अपने नेताओं को खोने से होने वाले नुक्सान का खतरा अंदरखाने ज़रूर सता रहा है।

ये भी पढ़ें : ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ लेकर अब राजस्थान आएंगे राहुल गांधी, जानें क्या बना कार्यक्रम?


लोकसभा चुनाव की तैयारियों से लेकर मिशन में फतह पाने को लेकर दोनों पार्टियों के प्रदेश प्रभारी और प्रदेशाध्यक्षों पर बड़ी ज़िम्मेदारी है। यही कारण है कि भाजपा प्रददेश प्रभारी अरुण सिंह, कांग्रेस प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर रंधावा और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा अपनी पार्टी और कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करने में जुट गए हैं। ये चारों वही नेता हैं जिनपर पिछले वर्ष के आखिर में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी यही ज़िम्मा था।

ट्रेंडिंग वीडियो