जयपुर लोकसभा सीट पर किसमें कितना है दम, कौन कहां है कम, जाने पूरी रिपोर्ट

जयपुर लोकसभा सीट पर किसमें कितना है दम, कौन कहां है कम, जाने पूरी रिपोर्ट

Pushpendra Singh Shekhawat | Publish: Apr, 13 2019 02:38:28 PM (IST) | Updated: Apr, 13 2019 04:19:54 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

दोनों ही दल ले रहे सोशल मीडिया का सहारा, प्रचार में नहीं छोड़ी जा रही कोई कसर

जयपुर। अब तक भाजपा का गढ़ रही जयपुर शहर लोकसभा सीट ( Jaipur city Constituency ) पर इस बार कड़ी टक्कर की स्थिति है। कांग्रेस ने वैश्य कार्ड खेलते हुए ज्योति खण्डेलवाल ( jyoti khandelwal ) को टिकट दिया, जिसके बाद भाजपा प्रत्याशी मौजूदा सांसद रामचरण बोहरा ( ramcharan bohra ) प्रचार में और तेजी से जुट गए। दोनों दलों ने शहर के अपने-अपने विधायकों व पूर्व में हारे प्रत्याशियों को लोकसभा जिताने का जिम्मा सौंपा है। दोनों ने ही एक दूसरे को घेरने की भी तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए अलग से टीम गठित की गई है। मुख्य रूप से सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है। रूठों को मनाने की चुनौती भी कम नहीं है। जानें कौन किससे कहां है कमजोर :

 

 

 

बोहरा की चुनौती : पिछली जीत को बनाए रखना
—सांसद कोष का शत-प्रतिशत उपयोग किया, जिसो जनता तक पहुंचाना और विकास कार्यों की दृष्टि से साबित करना।

—भाजपा वैश्य वोट बैंक को अपना मानती रही है। इस वोट बैंक में सेंध लगने की संभावना को रोकना। क्योंकि, जयपुर में महापौर चुनाव के दौरान भी कांग्रेस प्रत्याशी ज्योति खण्डेलवाल को भाजपा के परंपरागत वोट मिले थे।
—भीतरघात की आशंका, कुछ विधायक व पूर्व विधायक खुले तौर पर बोहरा के साथ आने से कतरा रहे हैं। पार्टी से बाहर पार्षदों का साथ नहीं मिल रहा।

—भाजपा में वैश्य समाज के ही कई नेता, जनप्रतिनिधि हैं, जिन पर सामाजिक दबाव भी रहेगा। ऐसे में अंदरूनी स्तर पर पार्टी प्रत्याशी के साथ न होने की आशंका बनी रहेगी। यह भी संभव है कि ऐसे नेता खामोश रहें।

 

 

जीत की यह बनाई रणनीति
—नगर निगम में महापौर रहने के दौरान कई तरह के कथित आरोप लगे, उन्हें जनता के सामने ले जाएंगे।

—अपनी ही पार्टी के नेता, मंत्रियों को कठघरे में खड़ा किया। तब यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने नगर निगम को 'नरक निगम' कहकर संबोधित किया था।

—शहर में सड़क पर ही अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेता के साथ ज्योति खंडेलवाल के नोकझोंक के वीडियो को वृहद स्तर पर वायरल करने का प्लान। इसके लिए सोशल मीडिया का अलग से प्लेटफॉर्म बना रहे।

 

— निजी चैनल द्वारा किए गए स्टिग ऑपरेशन में ज्योति खंडेलवाल का नाम आने पर उसके वीडियो को वायरल करने की योजना।

 

ज्योति खंडेलवाल : महापौर चुनाव की जीत दोहराना

- पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 5 लाख के अंतर से हारी। लेकिन महापौर चुनाव की जीत का इतिहास दोहराना।

— हाल ही में एक निजी चैनल द्वारा किए गए स्टिग ऑपरेशन में ज्योति खंडेलवाल का नाम काफी उछाला जा रहा है। ज्योति ने इसे फर्जी बताया है, लेकिन जयपुर पुलिस कमिश्नरेट इस मामले की जांच कर रही है।

- कांग्रेस प्रत्याशी वैश्य वर्ग से है। यह वर्ग आमतौर पर भाजपा का परंपरागत मत माना जाता रहा है। अब इन मतों के साथ अन्य वर्गों के मतों को भी खींचना।
- विधानसभा चुनाव में सांगानेर और विद्याधर नगर में कांग्रेस की बड़ी हार हुई। अब वहां के लिए विशेष रणनीति बनानी होगी।

- कांग्रेस प्रत्याशी की कुछ बड़े नेताओं से बड़ी प्रतिद्वंद्विता रह चुकी है, अब सबको साथ लेना।

 

जीत की यह बनाई रणनीति

- भाजपा प्रत्याशी के सांसद रहने के दौरान जनता से दूर रहने, विकास में पीछे रहने और संसद में जयपुर की आज नहीं उठाने का आरोप लगाते हुए घेरने की तैयारी

- जयपुर में बड़े व्यापारी वर्ग के सामने भाजपा की नोटबंदी, जीएसटी में विसंगति जैसे मुद्दों से हुए नुकसानों और रफाल को मुद्दा बनाकर घेरने की तैयारी।

- सांसद की विफलताओं और आदर्श गांव की तस्वीरों को सोशल मीडिया के जरिए और घर-घर ले जाएंगे, भाजपा सांसद पर आदर्श गांवों को आदर्श बनाने में पूरी तरह फेल रहने के आरोप।

Read Latest Rajasthan News in Hindi on Patrika. Also know about Rajasthan Lok Sabha Election Results 2019 News. Jaipur News और साथ ही दूसरे शहरों से जुडी ख़बरें पढ़ने के लिए बने रहिये हमारे साथ।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned