scriptlumpy skin disease in Rajasthan Latest and Updated News in Hindi | राजस्थान: Lumpy Skin Disease पर एक्शन मोड में Gehlot सरकार, अब ले लिया ये बड़ा फैसला | Patrika News

राजस्थान: Lumpy Skin Disease पर एक्शन मोड में Gehlot सरकार, अब ले लिया ये बड़ा फैसला

Lumpy Skin Disease in Rajasthan : गोवंशों में फैल रही लम्पी स्किन डिजीज के बढ़ते मामलों के बीच गहलोत सरकार एक्शन मोड पर है।इस बीमारी की रोकथाम और पशुचिकित्सकीय सेवाओं में प्रबंधन के मद्देनज़र कार्मिकों की संख्या में बढ़ोतरी के कदम उठाये जा रहे हैं।

जयपुर

Updated: September 12, 2022 01:06:38 pm

Lumpy Skin Disease in Rajasthan : राजस्थान में गोवंशों में फैल रही लम्पी स्किन डिजीज के बढ़ते मामलों के बीच कार्मिकों की कमी सामने आने के बाद अब गहलोत सरकार एक्शन मोड पर है।इस बीमारी की रोकथाम और पशुचिकित्सकीय सेवाओं में प्रबंधन के मद्देनज़र कार्मिकों की संख्या में बढ़ोतरी के कदम उठाये जा रहे हैं। इसका अंदाज़ा इस बात से लगा सकते हैं कि पशुपालन विभाग ने रविवार को आदेश जारी कर 730 पशुधन सहायकों को नियमित नियुक्ति प्रदान की है।

lumpy skin disease in Rajasthan Latest and Updated News in Hindi

पशुपालन विभाग मंत्री लालचंद कटारिया ने बताया कि प्रदेश में लम्पी रोग से अतिरिक्त प्रभावित और जिलों में रिक्तियों के आधार पर 18 जिलों में प्राथमिकता प्रदान करते हुए 730 पशुधन सहायकों के नियमित नियुक्ति के आदेश जारी किए गए गए हैं। इन नव नियुक्त पशुधन सहायकों को सात दिवस में कार्यग्रहण करना होगा, आदेश की प्रति पशुपालन विभाग की वेबसाईट पर अपलोड कर दी गई है।

पशुपालन मंत्री ने बताया कि मार्च 2022 में जारी विज्ञप्ति के अनुसार 1 हज़ार 136 पदों पर पशुधन सहायक भर्ती में नव सृजित तीन सौ पशुधन सहायकों के पदों को शामिल किए जाने का निर्णय कर ये भर्ती 1 हज़ार 436 पदों पर की गई है। कर्मचारी चयन बोर्ड से सफल अभ्यर्थियों की सूची प्राप्त होने पर शेष रहे पदों पर यथाशीघ्र नियुक्ति आदेश जारी किए जा सकेंगे।


ये भी पढ़ें : Lumpy Virus से बचाने के लिए गायों को लगाई जा रही बकरियों वाली वैक्सीन


गौरतलब है कि गौवंश में फैल रही लम्पी स्किन डिजीज की रोकथाम एवं बेहतर उपचार के लिए हाल ही में पशुपालन विभाग द्वारा 200 पशु चिकित्साधिकारियों को अस्थायी आधार पर नियुक्ति भी प्रदान की गई है।

दूध कलेक्शन हो रहा प्रभावित

प्रदेश के पशुधन में लम्पी रोग का असर दूध कलेक्शन पर भी पड़ा है, पूरे राज्य में दूध संग्रहण में प्रतिदिन तीन से चार लाख लीटर दूध की कमी हो रही है। आरसीडीएफ के अनुसार जून में संग्रहण केन्द्रों पर प्रतिदिन लगभग 20 लाख लीटर दूध एकत्र किया जा रहा था और यह वर्तमान में 29 लाख लीटर है जो कि 33 लाख लीटर होना चाहिए था। यानी लम्पी के शुरू होने के बाद दूध संग्रह में तीन से चार लाख लीटर प्रतिदिन की कमी आई है।

क्या है लम्पी वायरस?

लंपी एक संक्रामक वायरस है जो मवेशियों के बीच मच्छरों, मक्खियों, जूं और ततैया के सीधे संपर्क के माध्यम से फैलता है। इसके अलावा दूषित भोजन और पानी के सेवन से भी यह फैलता है। इस रोग के कारण मवेशियों को बुखार और शरीर में गांठें पड़ जाती हैं। इस बीमारी का असर गाय के दूध देने की क्षमता पर पड़ता है।

ये भी पढ़ें : शहरी सरकार भी नहीं सुन रही गौमाता की करुण पुकार

... इधर रिक्त स्थानों के लिए प्रवेश कार्यक्रम जारी

कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय ने स्नातक प्रथम वर्ष में रिक्त स्थानों के लिए प्रवेश कार्यक्रम जारी किया है। अब विद्यार्थी 13 सितंबर तक सरकारी कॉलेजों में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकेंगे। स्नातक में प्रवेश की ऑनलाइन तिथि को बढ़ाकर विद्यार्थियों को राहत दी गई है। कॉलेज में प्रवेश के लिए जो विद्यार्थी अभी तक आवेदन नहीं कर पाए थे, अब वे भी आवेदन कर सकेंगे।

श्रेणीवार रिक्त स्थानों के लिए ऑनलाइन प्रवेश कार्यक्रम -

1 - श्रेणीवार रिक्त स्थानों के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रारंभ करने की तिथि - बुधवार 7 सितंबर

2 - श्रेणीवार रिक्त स्थानों के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि - मगलवार 13 सितंबर

3 - प्राप्त आवेदन पत्रों के ऑनलाइन सत्यापन की अंतिम तिथि - बुधवार 14 सितंबर

4- (अ) रिक्त स्थानों के लिए प्रतीक्षा सूची का प्रकाशन - शुक्रवार 16 सितंबर

(ब) मूल दस्तावेजों का सत्यापन एंव ई-मित्र पोस्टिंग की अंतिम तिथि - शुक्रवार 23 सितंबर

(स) अभ्यर्थियों द्वारा ई-मित्र पर शुल्क जमा कराने की अंतिम तिथि- शनिवार 24 सितंबर

5 - प्रवेशित विद्यार्थियों की सूची का प्रकाशन - बुधवार 28 सितंबर

6 - नव प्रवेशित विद्यार्थियों का वर्ग निर्धारण एंव विषय आवंटन - गुरुवार 29 सितंबर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

NCP में पड़ी फूट? राष्ट्रीय अधिवेशन में दिखा मनमुटाव, शरद पवार के सामने बैठक छोड़कर चले गए अजित पवारWorld dairy summit 2022: PM मोदी ने डेयरी उत्पादन को भारत में बताया नंबर-1, कहा- महिलाओं का इसमें अहम योगदान'नॉन-प्लेइंग कैप्टन नहीं बन सकता पीएम': आरसीपी सिंह नीतीश कुमार पर जमकर बरसे'हिंदू देवी-देवताओं का...', गुरुग्राम में शो रद्द होने पर VHP पर भड़के Kunal Kamraदेशभर में गैंगस्टर्स के टेरर लिंक के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, पंजाब समेत 50 जगहों पर NIA की छापेमारीMaharashtra: शरद पवार पर बीजेपी ने बोला हमला, कहा- राजनीति महाराज के नाम पर और गुणगान शहंशाह का!असम पुलिस को बड़ी कामयाबी, अंसारुल्लाह बांग्ला टीम से जुड़े दो संदिग्ध आतंकी पकड़ेपाकिस्तान में हिंदू मंदिर बना बाढ़ प्रभावित मुस्लिम परिवारों का शरणस्थल, क्या कहता है इस्लाम?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.