रात भर ढूंढती रही पुलिस, सुबह चीनी महिला पर्यटक को ढूंढ ही निकाला

Avinash Bakolia

Publish: Mar, 17 2019 05:11:27 PM (IST) | Updated: Mar, 17 2019 06:57:48 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर. माणक चौक थाना इलाके से शनिवार शाम चीनी महिला पर्यटक के लापता हो जाने के बाद कमिश्नरेट की पुलिस में खलबली मच गई। पुलिस ने महिला की खोज में होटल, धर्मशाला, रैन बसेरे, रेलवे स्टेशन, बस स्टंैड पर सर्च अभियान किया। वायरलैस सेट पर रात भर विदेशी महिला को ढूंढने का मैसेज चलता रहा। रविवार को सुबह कोतवाली थाना पुलिस की टीम ने विदेशी महिला पर्यटक को ढूंढ निकाला। तब जाकर पुलिस ने राहत की सांस ली।
एडिशनल डीसीपी नॉर्थ धर्मेन्द्र सागर ने बताया कि विदेशी महिला लूओक्सी ने शनिवार शाम को को बापू बाजार में कपड़े खरीदे खरीदने आईं। वहां उसे तीन चीनी पर्यटक और मिल गए। हालांकि वे आपस में एक-दूसरे को नहीं जानते थे। लूआक्सी ने दुकान पर कपड़े खरीदे और उसके बाद उसे अल्टर करवाने के लिए एक दुकान पर गईं। तभी वहां उसका मोबाइल खराब हो गया। तीनों चीनी पर्यटक भी वहां से निकल गए। मोबाइल ठीक करवाने के लिए उसने दुकानवाले से पूछा तो उसने नेहरू बाजार स्थित रायसर प्लाजा का पता बताया। विदेशी महिला ने चौड़ा रास्ता में ही एक मोबाइल शॉप पर अपना मोबाइल रिपेयर करवाने के लिए दे दिया। उसके बाद वह रास्ता भटक गई और पैदल-पैदल सिंधी कैम्प पहुंच गई। वहां एक लड़के ने उसकी मदद की और होटल में कमरा दिलवा दिया। इधर रात तक जब महिला अपने होटल नहीं पहुंची तो उसके साथियों ने माणक चौक थाने में पहुंचकर सूचित किया। महिला रविवार सुबह नेहरू बाजार के पास एक छात्र के साथ स्कूटी पर रायसर प्लाजा की तरफ आ रही थी। तब कोतवाली थाने के थानाधिकारी अरुण पूनिया टीम के साथ खोजते हुए वहां पहुंचे और उन्होंने विदेशी महिला को साथ लेकर माणक चौक थाने लेकर आ गए। महिला को ढूंढने में कोतवाली थाना पुलिस और स्पेशल टीम में कालूराम, दीपक, रमेश और ड्राइवर रमेश का खासा योगदान रहा है।

15 मार्च को आए थे जयपुर घूमने
कोतवाली थानाधिकारी अरुण पूनिया ने बताया कि विदेशी महिला गु्रप के साथ मुंबई, उदयपुर, जोधपुर, जैसलमेर होते हुए 15 मार्च को जयपुर घूमने आईं। महिला अपने गु्रप के साथ सी-स्कीम में एक होटल में ठहरी हुईं थी। रविवार को महिला सिंधी कैम्प होटल से निकली और अंदाजे से पैदल ही चौड़ा रास्ता पहुंची। वहां चाय की दुकान पर तीन स्टूडेंट कुणाल, आशीष और प्रिया चाय पी रहे थे। विदेशी महिला उनके पास गई और रोने लग गई। तीनों विद्यार्थियों को उसकी भाषा समझ नहीं आ रही थी, तो उन्होंने गूगल ट्रांसलेट के जरिए उसकी भाषा समझी। पहले तो विद्यार्थियों ने विदेशी महिला का मोबाइल ठीक करवाया और प्रिया के साथ स्कूटी पर उस जगह को ढूंढने निकली जहां उसने कपड़े खरीदे थे। इतने में टीम भी ढूंढते हुए वहां पहुंच गई और थाने ले आई।

अभय कमान सेंटर पर रात पर कैमरों पर निगरानी रखती रही पुलिस
चीनी विदेशी महिला पर्यटक के खो जाने पर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव के निर्देश पर पुलिस महकमे ने रात पर सर्च अभियान किया। अभय कमान सेंटर में रात भर चौड़ा रास्ता, नेहरू बाजार और अन्य जगहों पर लगे कैमरों पर सुबह तक निगरानी रखी।

छह घंटे साथ रहे, चायनीज भाषा में कम्यूनिकेट के लिए इंटरनेट की ली मदद
कुणाल, आशीष और प्रिया ने बताया कि सुबह दस बजे चाय पीने चौड़ा रास्ता स्थित एक दुकान चार पी रहे थे। वहां विदेशी महिला भी चाय पी रही थी। उसने चाय वाले से कुछ बात की तो उसने हमारे पास भेज दिया। हमने मोबाइल पर गूगल ट्रांसलेटर पर चायनीज की-बोर्ड डाउनलोड किया। महिला उस पर चायनीज में लिखती और इंग्लिश में ट्रांसलेट होता। उसके बाद हम इंग्लिश में लिखते और चायनीज में ट्रांसलेट होता। इस तरह से महिला से बातचीत हुई। तब उसने पूरी बात बताई। महिला के साथ हम अलग-अलग गाड़ी से चौड़ा रास्ता मोबाइल की दुकान पर गए, वहां से उसका मोबाइल लेकर रायसर प्लाजा पहुंचे। रायसर प्लाजा में दुकानदारों ने मोबाइल ठीक करने से मना कर दिया। इसके बाद महिला ने बोला उसे नया मोबाइल लेना है, तो उसे नया मोबाइल दिलवाया। नए मोबाइल में सिम लगाकर अपने दोस्तों से बात करने का प्रयास किया, लेकिन दोस्तों से बात नहीं हो पाई। इसके बाद हम महिला को चौड़ा रास्ता स्थित पर्यटक सहायता केंद्र लेकर जा रहे थे तभी नेहरू बाजार के पास पुलिस पहुंच गई और वे सभी को थाने लेकर आ गए। पुलिस ने हमें धन्यवाद देकर भेज दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned