scriptMahatma Gandhi School of Rajasthan is on the path of private | निजीकरण की राह पर हैं राजस्थान के सरकारी महात्मा गांधी स्कूल ​ | Patrika News

निजीकरण की राह पर हैं राजस्थान के सरकारी महात्मा गांधी स्कूल ​

महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल भी निजी स्कूलों की राह पर चल रहे हैं। राज्य के कुछ अंग्रेजी माध्यम स्कूलों ने अपनी अलग-अलग ड्रेस निर्धारित की है। इन स्कूलों के बच्चे नई ड्रेस खरीदने को मजबूर हैं। हैरानी की बात है कि शिक्षा विभाग ने राज्य में आठ महीने पहले ही स्कूली बच्चों के लिए समान ड्रेस कोड निर्धारित कर दी। इतना ही नहीं, कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को सरकार इस सत्र से मुफ्त ड्रेस देने जा रही है।

जयपुर

Published: August 01, 2022 08:37:16 pm

महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल भी निजी स्कूलों की राह पर चल रहे हैं। राज्य के कुछ अंग्रेजी माध्यम स्कूलों ने अपनी अलग-अलग ड्रेस निर्धारित की है। इन स्कूलों के बच्चे नई ड्रेस खरीदने को मजबूर हैं। हैरानी की बात है कि शिक्षा विभाग ने राज्य में आठ महीने पहले ही स्कूली बच्चों के लिए समान ड्रेस कोड निर्धारित कर दी। इतना ही नहीं, कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को सरकार इस सत्र से मुफ्त ड्रेस देने जा रही है।
ड्रेस वितरण की धीमी प्रक्रिया का फायदा उठा कुछ सरकारी महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल अभिभावकों की जेब काट रहे हैं। कुछ महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूलों ने ड्रेस कोड लागू कर एक दुकान तय कर दी है। स्कूल के बच्चे उस दुकान से ड्रेस खरीदने को मजबूर हैं। ऐसे में एक बच्चे पर 300 से 500 रुपए का अतिरिक्त खर्चा आ रहा है।
जयपुर के मानसरोवर, फागी, जमवारामगढ़, सांभरलेक सहित कई जिलों के महात्मा गांधी स्कूलों में बच्चों के लिए अलग ड्रेस कोड लागू किया है।

c1.jpg

अंग्रेजी माध्यम स्कूलोें के लिए अलग ड्रेस नहीं थी। हमने एसडीएमसी में प्रस्ताव लेकर अलग यूनिफॉर्म निर्धारित कर ली। अब सरकार ने अलग लागू कर दी। हम ड्रेस के लिए विभाग से मार्गदर्शन मांग रहे हैं।

-टीकम चंद मालाकार, प्रिंसिपल, सांभरलेक स्कूल

विद्यालय विकास एवं प्रबंध समिति की ओर से स्कूल ड्रेस लागू करने का निर्णय किया था। सरकार ने अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की कॉमन ड्रेस निर्धारित नहीं की थी। इसीलिए स्कूल स्तर पर निर्णय ले लिया था।

-अनु चौधरी, प्रिंसिपल, महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूल, मानसरोवर

छात्र हल्की नीली शर्ट-गहरे भूरे या धूसर रंग की पेंट पहनेंगे।

छात्राएं हल्की नीले रंग की शर्ट या कुर्ते के साथ गहरे भूरे या धूसर रंग स्कर्ट या सलवार के साथ इसी रंग के दुपट्टे में नजर आएंगी।

सर्दियों में ड्रेस के साथ गहरे भूरे या धूसर रंग का ब्लेजर या स्वेटर पहन सकेंगे।


मुफ्त ड्रेस वितरण में अभी समय
सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा एक से आठ तक के 70 लाख बच्चों को नए सत्र में नि:शुल्क ड्रेस दी जानी है। सरकार ड्रेस का कपड़ा उपलब्ध कराएगी। ड्रेस सिलवाने की जिम्मेदारी स्कूल की रहेगी। बच्चोें को दो ड्रेस मिलेगी। इसके लिए अनुमानित बजट 600 रुपए निर्धारित किया है। इसमें 425 रुपए का कपड़ा होगा। इसके अलावा 175 रुपए सिलाई के होंगे।

यह है सरकार की निर्धारित ड्रेस

यह है नियम
जयपुर जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक राजेन्द्र शर्मा हंस का कहना है कि स्कूल में विद्यालय विकास एवं प्रबंध समिति विकास से संबंधित निर्णय ले सकती है। लेकिन बच्चों की स्कूल ड्रेस और पाठ्यपुस्तक का निर्णय विभाग स्तर पर ही लिया जाता है। समिति अलग से बच्चों की ड्रेस निर्धारित नहीं कर सकती।


समान ड्रेस कोड है
अंग्रेजी माध्यम स्कूल अपने स्तर पर अलग ड्रेस निर्धारित नहीं कर सकते। सरकार ने सभी बच्चों के लिए समान ड्रेस कोड निर्धारित कर रखा है। अगर स्कूल अपने स्तर पर ड्रेस कोड लागू कर रहे हैं तो उनके लिए आदेश जारी किए जाएंगे।

सुभाष यादव, सीडीईओ और नोडल अधिकारी महात्मा गांधी अंग्रेजी स्कूल

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

Maharashtra: पात्रा चॉल के बाद अब ईडी के रडार पर महाराष्ट्र के कई बड़े घोटाले, उद्धव ठाकरे की सरकार में हुए स्कैम के दस्तावेज मांगेचीन से बढ़ी टेंशन के बीच ताइवान के मिसाइल डेवलपमेंट से जुड़े अधिकारी का मिला शवVice President Election 2022 Live Updates : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी वोट डालने संसद भवन पहुंचींRCP सिंह पर गिरी गाज, JDU ने लगाए गंभीर आरोप, कहा - 'पार्टी में रहते करोड़ों की संपत्ति बनाई, अब दो हिसाब'क्रोध का बोध मन में आ जाए तो कभी गुस्सा नहीं आएगा, 'गीताविज्ञान' पर डॉ. गुलाब कोठारी का संबोधनBeed: हनुमानगढ़ के मठाधीश बुवासाहेब खाडे महाराज के खिलाफ रेप केस दर्ज, ग्रामीणों ने बेरहमी से पीटा, 13 लाख के जेवर लूटेDahi Handi 2022: दही हांडी को लेकर MNS और BJP का बड़ा फैसला, गोविंदाओं को दी फ्री बीमा की सौगातVice President Election 2022: उपराष्ट्रपति को वेतन से लेकर मिलती हैं ये रॉयल सरकारी सुविधाएं, ऐसे होता है चुनाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.