scriptMahesh Joshi's big allegation on BJP in Rajgarh case | राजगढ़ मामले में महेश जोशी का आरोप, 'अपनी गलती सरकार के माथे थोपना चाहती है बीजेपी' | Patrika News

राजगढ़ मामले में महेश जोशी का आरोप, 'अपनी गलती सरकार के माथे थोपना चाहती है बीजेपी'

जलदाय मंत्री में जोशी ने कहा, भाजपा के बोर्ड की सहमति से तोड़ा गया है मंदिर

जयपुर

Updated: April 25, 2022 12:09:54 pm

जयपुर। अलवर के राजगढ़ में मंदिर तोड़ने के मामले को लेकर सत्तारूढ़ कांग्रेस और बीजेपी के नेताओं के बीच बयानबाजी का दौर जारी है। बीजेपी जहां मंदिर तोड़ने के लिए सरकार को दोषी ठहरा रही है तो वहीं सत्तारूढ़ कांग्रेस मंदिर तोड़ने के लिए राजगढ़ पालिका को जिम्मेदार बता रही है।

mahesh joshi
mahesh joshi

कांग्रेस का कहना है कि राजगढ़ में भाजपा का बोर्ड है और भाजपा के बोर्ड की सहमति से ही मंदिर टूटा है। इस मामले में आज जलदाय मंत्री महेश जोशी का भी बयान सामने आया है। जलदाय मंत्री महेश जोशी ने कहा कि बीजेपी लोगों को भड़का कर खुद की गलती का ठीकरा सरकार के माथे फोड़ना चाह रही है।

जोशी ने कहा कि राजगढ़ पालिका में बीजेपी का बोर्ड है और 35 में से 34 पार्षद बीजेपी के हैं। पालिका बोर्ड की सहमति से मंदिर तोड़ा गया है तो इसके लिए कांग्रेस सरकार कहां से जिम्मेदार हो गई? पालिका बोर्ड ने मंदिर तोड़ने की परमिशन दी।

जोशी ने कहा कि पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार के समय भी जयपुर में सैकड़ों मंदिर तोड़ दिए गए थे। उस वक्त तो न प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी और न ही जयपुर नगर निगम में कांग्रेस का बोर्ड था। जोशी ने कहा कि बीजेपी को कोई नैतिक अधिकार नहीं है कि वह मंदिर तोड़ने के मामले में कांग्रेस पार्टी पर सवाल खड़े करें।

फोटो खिंचवाने से कोई दोषी नहीं होता
वहीं मुख्यमंत्री आवास पर हुए रोजा इफ्तार में छबड़ा हिंसा के आरोपी की मौजूदगी के भाजपा के सवाल पर महेश जोशी ने कहा कि रोजा इफ्तार पार्टी में हजारों लोग आते हैं अब इस बात को छोड़ना पड़ेगा कि कौन किस पार्टी में शामिल हो गया और किसके साथ फोटो खिंचवा ली।

महेश जोशी ने कहा कि मेरे साथ अगर कोई फोटो में खड़ा है और उसने कोई अपराध किया है तो उसकी उसकी सजा उसे कानून देगा। जलदाय मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का स्पष्ट मत है कि हर गलती कीमत मांगती है और जो कानून तोड़ने का काम करेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद कानून की पालना करते हैं सीएम जब कार में बैठते हैं तो सीट बेल्ट लगा कर बैठते हैं। इसलिए उनके पास नैतिक अधिकार है कानून की पालना कराने का। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री आवास पर हुए रोजा इफ्तार कार्यक्रम में छबड़ा हिंसा के आरोपी की मौजूदगी पर बीजेपी ने सवाल खड़े खड़े करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को घेरा था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

नोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.