सियासत गरमाई, महेश जोशी Says, भाजपा ने बौखलाहट में Cm के खिलाफ दिया विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव

राज्यसभा चुनाव (Rajyasabha Election )में विधायकों की कथित खरीद फरोख्त को लेकर गरमाई राजनीति (Politics )अब भी रूकने का नाम नहीं ले रही है।

By: rahul

Updated: 10 Jul 2020, 04:38 PM IST

जयपुर। राज्यसभा चुनाव (Rajyasabha Election )में विधायकों की कथित खरीद फरोख्त को लेकर गरमाई राजनीति (Politics )अब भी रूकने का नाम नहीं ले रही है। निर्दलीय विधायक संयम लोढा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के खिलाफ दिए विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव (Breach of privilege motion)के बाद आज भाजपा ने भी सीएम अशोक गहलोत (Cm Ashok Gehlot )के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव विधानसभा सचिव को सौंप दिया। इस पर सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी (Mahesh Joshi )ने इसे भाजपा की बौखलाहट करार दिया है। जोशी ने कहा कि बीजेपी को विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव देना था तो वह मेरे खिलाफ देते। मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ यह प्रस्ताव क्यों दिया गया। जोशी ने ये भी कहा कि निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने पूनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव दिया था जिससे भाजपा बौखला गई और उसने ये प्रस्ताव दिया।

दुबारा पत्र लिखूंगा एसीबी को, मेरे बयान दर्ज करें—
जोशी ने एसओजी और एसीबी को दी हुई अपनी शिकायत पर कहा कि कहा कि वे आज ही एसओजी (SOG) और एसीबी( ACB )को पत्र लिखेंगे कि मेरे बयान दर्ज कर आगे की कार्रवाई करें। जोशी यहीं नहीं रूके उन्होंने फिर कहा कि भाजपा हॉर्स ट्रेडिंग करती है।

यह था संयम का प्रस्ताव— निर्दलीय विधायक संयम लोढा ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के खिलाफ 21 जून को विधानसभा में विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव दिया था जिसमें कहा था कि पूनिया ने यह आरोप लगाया था कि राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन के बदले 23 विधायकों को खान और रीको के प्लाट आवंटित किए गए। उन्होंने यह भी कहा कि इसके प्रमाण है। पूनिया के आचरण से राजस्थान विधानसभा की गरिमा कम हुई है और विधायकों की छवि खराब हुई है। है। यह प्रस्ताव विधानसभा के कार्य संचालन और प्रक्रिया के नियम 157, 158 और 159 के तहत दिया गया था।

BJP
rahul Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned